Latest Post

भोपाल
भोपाल लोकसभा सीट से वरिष्ठ कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह के हारने की सूरत में जल समाधि लेने का दावा करने वाले बाबा वैराग्यनंद गिरी महाराज उर्फ मिर्ची बाबा को समाधि  लेने की अनुमति नहीं मिली है। उन्होंने 13 जून को भोपाल के कलेक्टर तरुण कुमार पिथोड़े को पत्र लिख 16 जून को समाधि लेने की अनुमति मांगी थी।
दिग्विजय सिंह को जिताने के लिए मिर्ची यज्ञ करते वक्त वैराग्यनंद ने ऐलान किया था कि अगर वह भोपाल सीट से चुनाव नहीं जीते तो वह (वैराग्यनंद) जल समाधि ले लेंगे।  चुनाव परिणाम आने के बाद उनका यह वीडियो वायरल हो गया था। दिग्विजय को भाजपा की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने साढ़े तीन लाख से अधिक मतों से हराया है।

पत्र में कहा
वैराग्यनंद के अधिवक्ता माजिद अली ने बताया, आवेदन में बाबा वैराग्यनंद ने लिखा है कि हालिया लोकसभा चुनाव के दौरान भोपाल संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के पक्ष   में कांग्रेस का प्रचार करते हुए मैंने उनके विजय की कामना के लिए एक यज्ञ करते हुए संकल्प लिया था कि अगर उनको भोपाल संसदीय चुनाव में पराजय का सामना करना पड़ा  तो मैं हवनकुंड में ब्रह्मलीन समाधि लूंगा।

पत्र पर अधिवक्ता के हस्ताक्षर
इस पत्र पर अधिवक्ता अली ने हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने बताया कि उन्हें वैराग्यनंद ने हस्ताक्षर करने के लिए अधिकृत किया है। अली भोपाल जिला न्यायालय में निजी वकालत करते हैं।

अयोध्या में संतों ने की पीएम मोदी की तारीफ


अयोध्या
श्री राम जन्मभूमि न्यास अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के 81वें जन्मोत्सव समारोह के अंतिम दिन विराट संत सम्मेलन हुआ। इस खास मौके पर देश भर से आए संतों के कुनबे   ने पीएम नरेंद्र मोदी के हिंदुत्व के अजेंडे की सराहना की और विश्वास जताया की एक वर्ष के अंदर राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा। संतों ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के आने के बाद से हिंदुत्व की आस्था का मंदिर मजबूत हुआ है। हालांकि, मंच पर एकमात्र संत आचार्य धर्मेंद्र ने पीएम नरेंद्र मोदी पर कुछ मुद्दों को लेकर तंज कसे और कहा कि पीएम  ने देश के सभी मंदिरों में पूजा अर्चना की, लेकिन अयोध्या क्यों नहीं आए? अयोध्या में आयोजित इस समागम में तमाम संतों ने भरोसा जताते हुए कहा कि पीएम एक वर्ष के  भीतर राम मंदिर का शिलान्यास करने ही अयोध्या आएंगे। संत धर्माचार्यों ने नेपाल से आए श्री कृष्ण दास को नेपाल राष्ट्र के रामानंदाचार्य के रूप में मान्यता दी और प्रमाण पत्र   सौंपा। संतों ने कहा कि अब इन्हें जगद्गुरु रामानंदाचार्य राम कृष्णाचार्य के नाम से जाना जाएगा और यह नेपाल को हिंदू राष्ट्र बनाने में महत्वपूर्ण का निभाएंगे।

नई दिल्ली
दिल्ली में पानी और बिजली संकट पर राजनीति गहरा गई है। भारतीय जनता पार्टी के बाद अब कांग्रेस ने भी दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल  दिया है। इस कड़ी में कांग्रेस ने आगामी 18 जून को बिजली-पानी कटौती के खिलाफ दिल्ली की 70 विधानसभाओं में विरोध-प्रदर्शन करने का फैसला किया है। इससे पहले 12 जून   को दिल्ली कांग्रेस प्रदेश कमेटी अध्यक्ष शीला दीक्षित ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की थी। शीला दीक्षित ने बिजली और पानी की समस्या को लेकर केजरीवाल से यह मुलाकात की थी। इससे पहले शीला ने 10 जून को केजरीवाल से मुलाकात का समय मांगा था, लेकिन केजरीवाल ने मुलाकात के लिए बुधवार का समय दिया था। शीला दीक्षित के   मुताबिक, अरविंद केजरीवाल सरकार ने बिजली कंपनियों को फायदा पहुंचाया है। बिजली के फि€स्ड चार्ज जिसमें दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग ने पिछले साल मार्च में इजाफा   किया था, उससे बिजली कंपनियों को लगभग 7000 करोड़ का फायदा हुआ। कांग्रेस मांग कर रही है कि इस पैसे को दिल्ली की जनता को रिफंड किया जाए। शीला दीक्षित और  कांग्रेस की मांग है कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार लोगों के 6 महीने के बिजली बिल माफ करे जिससे कि उन्हें राहत मिले।

नई दिल्ली
भाजपा 6 जुलाई को जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जन्म दिवस से अपना विशेष सदस्यता अभियान शुरू करेगी। 10 अगस्त तक चलने वाले इस अभियान में   पार्टी अपना ध्यान लोकसभा चुनाव में कमजोर प्रदर्शन वाले राज्यों, कमजोर बूथों और युवाओं पर केंद्रित करेगी। अभियान समिति के संयोजक और पार्टी के उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पार्टी ने न्यूनतम 20 फीसदी नए सदस्य जोड़ने का लक्ष्य तय किया है। चौहान ने बताया कि सदस्यता अभियान मुख्य रूप से पश्चिम बंगाल, केरल, तमिलनाडु,  पुडुचेरी, लक्षद्वीप, कश्मीर घाटी, ओडिशा, तेलंगाना राज्य और युवाओं पर केंद्रित होगी। इस अभियान के तहत पार्टी हर बूथ तक पहुंचेगी। कमजोर बूथों को चिह्नित कर वहां अधिक सदस्य बनाए जाएंगे। पार्टी का सदस्य बनने की प्रक्रिया मोबाइल फोन पर मिस कॉल से शुरू होगी। पार्टी कार्यकर्ता बाद में ऐसे लोगों से संपर्क पर सदस्यता फार्म भरवाएंगे। अधिक   से अधिक सदस्य बनाने बनाने के लिए पार्टी अभियान शुरू करने से पहले पूरी तैयारी करेगी। इसके तहत सभी राज्यों में सदस्यता प्रभारी और सहप्रभारी बनाए गए हैं। पार्टी अध्यक्ष  अमित शाह इनकी बैठक 17 जून को लेंगे। पार्टी की कोशिश 2.20 करोड़ सदस्य बनाने के लक्ष्य से भी बड़ा लक्ष्य हासिल करना है। गौरतलब है कि शाह ने बृहस्पतिवार को ही पार्टी  के 11 करोड़ सदस्यों की संख्या में 20 फीसदी बढ़ोत्तरी करने का नया लक्ष्य निर्धारित किया है।

नई दिल्ली
वर्ल्ड कप में आज चिर-प्रतिद्वंद्वी भारत पाकिस्तान के बीच मुकाबला है, लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आज पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले अहम मुकाबले  से पहले किसी तरह का दबाव होने से इंकार किया। कोहली ने कहा कि विपक्षी टीम के बदलने से कोई एक मुकाबले का महत्व खास या कम नहीं हो जाता। उन्होंने कहा कि ड्रेसिंग   रूम के माहौल में कोई बदलावनहीं आया है।
कोहली ने हालांकि मौसम और खेल परिस्थितियों के अनुसार प्लेइंग इलेवन में बदलाव होने के संकेत दिए। मैच की पूर्व-संध्या पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कोहली ने कहा कि  पाकिस्तान के खिलाफ यह विश्व कप मुकाबला हमेशा नहीं चलता रहेगा। यह शुरू और खत्म भी। अगर नतीजा भातर के पक्ष में नहीं भी गया तो 50 ओवर का यह टूर्नामेंट जारी  रहेगा। टीम इंडिया के कैप्टन ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के खिलाड़ियों के बीच संबंध अच्छे हैं। कोहली ने कुछ पाकिस्तानी खिलाड़ियों की तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि मैं  कुछ ज्यादा बड़ा बदलाव नहीं देख रहा हूं। अगर आप अच्छा क्रिकेट खेलें, विपक्षी टीम के मुकाबले अपने बेसिक्स सही रखें, तो आप मैच जीत सकते हैं। अगर हम अपनी प्रतिभा का  अच्छा इस्तेमाल कर पाएं तो मेरी नजर में इतना काफी होगा। हमारा ध्यान इन्हीं चीजों पर होगा। अब चूंकि यह लंबा टूर्नामेंट है तो हम अपने प्रदर्शन में निरंतरता रखना चाहेंगे।  ड्रेसिंग रूम के माहौल पर कोहली ने कहा कि ड्रेसिंग रूम का मूड और माहौल नहीं बदला है। विपक्षी टीम बदलने से किसी मैच की महत्ता नहीं बदल जाती। हम मूलभूत काम बेहतर  करना चाहते हैं। जब उनसे पाकिस्तान के खिलाफ मैच से पहले दबाव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर आप किसी दिन अच्छा न खेलें तो विपक्षी टीम जीत सकती है।  भारतीय कप्तान ने माना कि एक फैन के लिए भारत और पाकिस्तान का मुकाबला अलग होता है। हालांकि उन्होंने कहा कि खिलाड़ी अपने मनोभावों को नियंत्रित रखते हैं। उन्होंने  कहा कि हम प्रफेशनल हैं और किसी भी टीम के खिलाफ अपने प्लान को सही तरीके से मैदान पर उतारने की कोशिश करते हैं।
उन्होंने कहा कि क्रिकेट एक टीम स्पोर्ट्स है और एक कोई एक खिलाड़ी मैच पर बहुत ज्यादा असर नहीं डालता। कोहली ने कहा कि भारतीय टीम की गेंदबाजी यूनिट काफी अच्छी  मानसिक स्थिति में है। उन्होंने कहा कि हमारे गेंदबाज बहुत अच्छी मनोस्थिति में हैं। उन्होंने पहले दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया है। मैं पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले से पहले  उनकी तैयारियों को लेकर फिक्रमंद नहीं हूं। कोहली ने कहा कि वह अपना ध्यान तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर के साथ होने वाले व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा पर केंद्रित नहीं कर रहे हैं।  मैच से पहले कोहली ने कहा, 'मैं टीआरपी के लिए कुछ नहीं कहूंगा।' कोहली ने कहा कि आपको किसी भी गेंदबाज की ताकत की कद्र करनी चाहिए। आपको किसी भी गेंदबाज के   खिलाफ रन बनाने की अपनी क्षमता पर भरोसा होना चाहिए। मैं सिर्फ रेड बॉल या व्हाइट बॉल क्रिकेट पर अपना ध्यान केंद्रित करता हूं। अन्य 10 खिलाड़ी भी हैं, जो मैच पर अपना  प्रभाव डाल सकते हैं। दोनों टीमों के बीच इससे पहले, आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में मुकाबला हुआ था। फाइनल में आमिर ने भारत के शीर्ष क्रम को पैविलियन की राह दिखाई थी।   आमिर ने शिखर धवन, रोहित शर्मा और कोहली को पहले नौ ओवर के अंदर ही निपटा दिया था और भारतीय टीम वह मैच 180 रनों से हारी थी। आमिर के फॉर्म में उसके बाद से   थोड़ी गिरावट आई, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 विकेट लेकर उन्होंने भारतीय बल्लेबाजों की चिंता बढ़ा दी है। कोहली ने यह भी नहीं बताया कि क्या वह अगले मैच में गेंदबाजी क्रम में कोई परिवर्तन करेंगे या नहीं।

ओल्ड ट्रेफर्ड के मैदान पर भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले महामुकाबले का रंग वैस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज क्रिस गेल पर भी देखने को मिल रहा है। गेल ने अपने  इंस्टाग्राम पर एक फोटो शेयर की है, जिसमें वह एक स्पैशल सूट पहने हुए हैं जिसपर भारत और पाकिस्तान दोनों का झंडा है। गेल ने उक्त फोटो के साथ कैप्शन दी है- मैं भारत-  पाकिस्तान के सूट रॉकिंग लग रहा हूं। सबके लिए प्यार और सम्मान। मैं वास्तव में इसे प्यार करता हूं। यह मेरी 20 सितंबर को होने वाली जन्मदिन की पार्टी में भी शामिल होगा।   गेल की इस फोटो पर आधे घंटे में ही 40 हजार से ज्यादा लाइक आ गए थे। गेल के फैंस ने उन्हें खूब सराहा। इंग्लैंड के खिलाफ मैच दौरान भी क्रिस गेल अपने स्टाइल के लिए  छाए रहे थे। दरअसल वैस्टइंडीज की टीम जब पहले खेलने उतरी थी, तो गेल महज 36 रन ही बना पाए थे। बाद में जब वह फील्डिंग करने उतरे तो कभी अपने डांस तो कभी अपनी  फील्डिंग के कारण चर्चा में रहे। उनकी रंगीन चश्मा पहनकर बॉलिंग करते की फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इसके अलावा उनका रंगीन चश्मे में जो रूट की ओर झांकना   भी उनके साथियों को बहुत पसंद आया।

भारतीय क्रिकेट के दो बड़े दिग्गज सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर ने कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप मुकाबले में भारत को यह सोच कर मैदान में नहीं उतरना चाहिए  कि वे जीत के दावेदार होगे। पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली ने कहा कि भारतीय टीम ने 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान को कम आंकने का खामियाजा भुगत चुकी है।  गांगुली ने कहा कि भारत को सावधान रहना होगा, उन्हें मैच में यह सोच कर नहीं जाना चाहिए कि वे जीत के दावेदार है और मजबूत हैं मुझे लगता है कि उन्होंने 2017 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में ऐसा (पाकिस्तान को कम आंकने की गलती) किया था और पाकिस्तान ने उन्हें हरा दिया था। यह शानदार मुकाबला होने वाला है। गांगुली ने आगे कहा  कि दोनों देशों के बीच मुकाबले को लेकर लोगों की भावनाएं चरम पर होती है और काफी रोमांच होता है।

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget