मोदी ने की शी से मुलाकात

परमाणु आपुर्तीकर्ता समूह (एन एस जी) की सदस्यता के भारत के पुरज़ोर प्रयासो के बीच प्रधानमंत्रि नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को चीन के राष्ट्रपती शी चिनफिंग से मुलाकात की और समझा जाता है कि उन्होने इस बाबत चीन का समर्थन मांगा। इस कदम को प्रक्रिया बढ़ाने के लिये बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है। सूत्रो ने कहा की मोदी और शी के बीच यहां हुई मुलाकात सोल मे शुरू हुए एन एस जी के दो दिवसीय पूर्ण सत्र मे कार्यवाही की दिशा निर्धारीत करेगी। तुर्की, न्यूज़ीलॅंड और दक्षिण अफ्रीका जैसे कुछ अन्य देशो को भी ४८ सदस्य समूह मे भारत की सदस्यता पर आपत्तियां है, लेकिन भारत को लगता है की अगर चीन भारत के लिये अनुकूल रूख अपना ले तो इन देशो का विरोध निष्प्रभावी हो जाएगा।
सूत्रो ने कहा की एन एस जी की सदस्यता के भारत के प्रयासो पर चीन का रूख बहुत महत्वपूर्ण है। मोदी शंघाई सहयोग गठन के वार्षिक संम्मेलन मे भाग लेने के लिये दो दिन की यात्रा प्र गुरूवार को पहुंचे। इससे पहले पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने सम्मेलन से इतर शी से मुलाकात की और एन एस जी की सदस्यता के लिये पाकिस्तान के पक्ष का समर्थन करने पर चीन का शुक्रिया अदा किया। भारत के एन एस जी मे प्रवेश के प्रयासो पर अपने विरोध का स्पष्ट संकेत देते हुए चीन ने एन एस जी के सदस्यो के बीच मतभेदों को रेखांकित करते हुए कहा था, पक्षो ने अभी इस मुद्दे पर आमने-सामने बातचीत नही की है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget