’नरसिंह विवाद’ पर पीएम सीरीयस

नई दिल्ली। रियो ओलंपिक में भारत की ओर से नरसिंह यादव के प्रतिनिधित्व का विवाद प्रधानमंत्री तक पहुंच गया है। दरअसल, कुश्ती में 74 किलो वर्ग में भारत की ओर से  चयनित नरसिंह यादव डोप टेस्ट में फेल हो गए, जिस वजह से उनके रियो जाने पर संदेह के बादल मंडरा रहे हैं। हालांकि, इस बीच फेडरेशन खुलकर नरसिंह का समर्थन कर रहा है  और इसी क्रम में कुश्ती संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण यादव ने पीएम मोदी से मुलाकात की। मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रधानमंत्री ने इसकी कॉपी की भी मांग की है। डोप टेस्ट में  फेल होने के बाद नरसिंह यादव ने शिकायत की थी कि उनके खिलाफ साजिश की गई है। उनके खाने में दवाई मिलाई गई थी, जिससे वह डोप टेस्ट में फेल हो गए थे। डोप टेस्ट में जो दवाई पाई गई है वह मसल्स बढ़ाने वाली दवाई है, जिसका इस्तेमाल पहलवान नहीं करते हैं। नरसिंह की शिकायत से कुश्ती संघ संतुष्ट है और उन्होंने पीएम मोदी को इस  शिकायत से अवगत कराया है।
नरसिंह के समर्थन में आते हुए फेडरेशन (कुश्ती संघ) के अध्यक्ष ब्रजभूषण इंसह ने कहा कि उनके साथ अन्याय हुआ है और उन्हें उम्मीद है कमिटी  नरसिंह के साथ न्याय करेगी। इसके अलावा नरसिंह के संबंध में दलीलें देते हुए संघ का कहना है कि नरसिंह और उनके साथी संदीप तुलसी यादव दोनों के शरीर में एक ही पदार्थ  पाया गया है और यह संदेह का विषय है। साथ ही उन्हें नरसिंह जिस कैंप में रहते हैं, उसकी एक महिला इंचार्ज पर शक भी है। संघ का कहना है कि कैंप स्पोट्र्स अथॉरिटी ऑफ  इंडिया के अंडर आता है, ना कि कुश्ती संघ के। डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने पर नरसिंह यादव का कहना है कि वह जानते हैं कि डोइंपग क्या होती है और उन्होंने कभी ऐसा  कुछ नहीं किया। उनकी शिकायत है कि उन्हें इस मामले में उन्हें फंसाया जा रहा है। उनका मानना है कि भीड़-भाड़ के वक्त कोई भी आसानी से खाने-पीने के सामान में कुछ मिला  सकता है। साथ ही नरसिंह ने इस मामले की सीबीआई जांच की भी मांग की है। केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल ने बयान दिया है कि नरसिंह यादव रियो नहीं जाएंगे और वह  फिलहाल निलंबित हैं। सिर्फ 119 खिलाडिय़ों का दल ही रियो जाएगा। गोयल ने कहा कि जब नरसिंह इस मामले में साफ पाए जाएंगे तब उनको रियो भेजा जाएगा।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget