मौत की बारीश

बीजिंग - चीन में भारी  बारिश और बाढ़ की वजह से तकरीबन 225 लोगों की मौत हो गई या वे लापता हैं, वहीं मध्य हुबेई प्रांत में अब भी लगभग ढाई लाख लोग बाढ़ के पानी में  फंसे हुए हैं। हुबेई प्रांत में तिआनमेन नगर की सरकार ने बताया कि 18 से 20 जुलाई के बीच लगातार हुई मूसलाधार बारिश की वजह से 6.80 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं  और 10 शहर जलमग्न हो गए हैं। एक खबर के अनुसार बचाव कार्य के लिए 500 से ज्यादा सैनिक, 1,000 लोग और 62 स्पीडबोट भेजी गई हैं, जबकि नदी के किनारों की सुरक्षा  सुनिश्चित करने के लिए 10,000 से अधिक लोगों को भेजा गया है। हुबेई प्रांत में कम से कम 114 लोगों की मौत हो चुकी है और 111 अन्य लापता हैं।
स्थानीय प्रशासन ने करीब  3.10 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। बाढ़ और बारिश के कारण कई जगहों पर भूस्खलन हुआ, जिसकी वजह से 52,900 घर ढह गए, जबकि 155,000 घर  क्षतिग्रस्त हुए हैं। इस प्राकृतिक आपदा में 700,000 हेक्टर से ज्यादा की फसल तबाह हो गई, जिससे अर्थव्यस्था को सीधे 2.4 अरब अमेरिकी डॉलर का नुकसान हुआ है। बाढ़ से  शिन्गताई शहर का दाशिआन गांव सर्वाधिक प्रभावित हुआ है, जो बाढ़ आने के बाद जलमग्न हो गया था। इसके बाद गांव लगभग खाली हो चुका है। यहां कम से कम आठ ग्रामीणों  की मौत हुई है और एक लापता है। हांग कांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने खबर दी है कि दक्षिण बीजिंग से सिर्फ 400 किलोमीटर दूर शिंगताई में बड़ी संख्या में लोगों  के हताहत  होने की खबर पिछले 24 घंटे के दौरान ही उभरना शुरू हुई जब हजारों लोग स्थानीय कथित विलंबित आपदा चेतावनी और गैर प्रभावी बचाव प्रयासों के विरोध में प्रदर्शन  करने के लिए सड़कों पर निकले थे। खबरों में कहा गया है कि बाढ़ का पानी नदी के तटों से बाहर आ गया और कम से कम 12 गांवों में घुस गया।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget