देश के लुटेरोंको डरना ही होगा : मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित विपक्ष के नेताओं पर  जमकर हल्ला बोला। उन्होंने कहा, 'उल्टा चोर चौकीदार को डांटे? हो क्या गया है आप लोगों को? मोदी और भाजपा की आलोचना करते-करते देश की बुराई करना गलत है। आप  चिंता मत करिए देश को लूटने वालों को मोदी डराकर रहेगा। देश ने मुझे इसी काम के लिए बैठाया है। देश को जिन्होंने लूटा है, उन्हें डरना ही होगा। ऐसे लोगों के खिलाफ लड़ने के  लिए ही मैंने जिंदगी खपाई है। इस देश में चोर-लुटेरों-बदमाशों का डर खत्म हो गया था, उनके मन में डर पैदा करने के लिए मुझे यहां बैठाया गया है।

राहुल ने मोदी के बारे में तल्ख टिप्पणियां की थीं
प्रधानमंत्री के लोकसभा में संबोधन से पहले राहुल ने कांग्रेस अल्पसंख्यांक सम्मेलन में मोदी के बारे में तल्ख टिप्पणियां की थीं। उन्होंने कहा था, मोदी डरपोक व्यक्ति है। मेरे साथ  नरेंद्र मोदी का नेशनल सिक्युरिटी और राफेल के मुद्दे पर डिबेट करा दो। भाग जाएगा... भाग जाएगा। मोदी ने कहा, 'आपने कहा कि मोदी संस्थाओं को खत्म कर रहा है, बर्बाद कर  रहा है। हमारे यहां कहावत है-उल्टा चोर चौकीदार को डांटे। मुझे लगता है कि इस पर विचार करने की आवश्यकता है। आपातकाल देश में कांग्रेस ने थोपा, लेकिन कहते हैं मोदी बर्बाद  कर रहा है। सेना को अपमानित किया। सेनाध्यक्ष को गुंडा कहा और कहते हैं कि मोदी इंस्टीट्यूट बर्बाद कर रहा है। तख्तापलट की कहानियां गढ़ी जाती हैं। सेना की इज्जत पर  इतना बड़ा बट्टा लगाया। ये जो आपने पाप किया है, भारत की सेना के सीने पर घाव लग रहा है। आज तक किसी ने ऐसा पाप नहीं किया केवल राजनीति के लिए। यह बुरा  किया।
कांग्रेस मुख्त भारत मेरा नहीं, गांधीजी का विचार प्रधानमंत्री ने कहा, ''55 साल के समाभोग ने कुछ लोगों की आदत खराब कर दी है कि वे खुद को शहंशाह मानते हैं और दूसरों को निकृष्ट मानते हैं। हर किसी का अपमान करना उनके स्वभाव में है। मुक्य न्यायाधीश को विवाद में खींचना, न्यायतंत्र, रिजर्व बैंक, सेनाध्यक्ष, चुनाव आयोग, देश की सबसे बड़ी जांच  एजेंसी, लोकतंत्र का अपमान करना समाभोग के कारण आपके अंदर आई हुई विकृति है। गांधीजी पहले ही समझ गए थे कि बीमारियों की रिसीविंग कैपेसिटी कांग्रेस की है। उन्होंने इसीलिए कांग्रेस को बिखेरने की बात कही। कांग्रेस मुख्त भारत मेरा नहीं, गांधीजी का विचार है। गांधीजी की बात को मैं पूरा करके ही रहूंगा। आप बच नहीं सकते।”
बीसी यानी बिफोर कांग्रेस एडी यानी आक्टर डायनेस्टी आज कांग्रेस के नेता कह रहे थे कि मोदीजी जो बाहर पब्लिक में बोलते हैं, राष्ट्रपतिजी ने वही बात सदन में कही। मतलब ये  सिद्ध हो गया कि सच अंदर-बाहर एक जैसा ही होता है। अब आपकी मुसीबत है कि सच सुनने की आदत भी चली गई है। जब हम इतिहास की बात करते हैं, तो बीसी और एडी की  चर्चा करते हैं। आज के भाषण में 1947 से 2014 तक का जिक्र आ रहा था। बीसी और एडी की उनकी अपनी व्याक्या है। बीसी का मतलब बिफोर कांग्रेस, यानी इससे पहले कुछ  नहीं था।
एडी का मतलब है आफ्टर डायनेस्टी यानी जो कुछ हुआ उन्हीं के काल में हुआ। आज कहां-कहां प्रॉपर्टियां निकल रहीं हैं मोदी ने कहा, ''बेनामी संपमि का कानून बना हुआ था, बहस  कर ली, वोट बटोर लिए, लेकिन कानून ही नहीं बनाया। यह हमने किया और इसीलिए लोग परेशान हैं, क्योंकि प्रॉपर्टी निकल रही है। कैसे-कैसे, कौन-कौन, किसके लिए, कब-कब,  कहां-कहां इसीलिए बेचैनी होना स्वाभाविक है। मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि हम अपने संकल्प पत्र से पीछे हटने वाले नहीं हैं। चुनौतियां और रुकावटें हैं, लेकिन उससे भी  ज्यादा मजबूत हमारे इरादे हैं। अविश्वास प्रस्ताव के वख्त भी मेरा गला घोंटने की कोशिश की गई थी। ये ईश्वर की कृपा थी कि मैं डेढ़-दो घंटे की नारेबाजी के बीच भी अपनी बात कह पाया। मैं कामना करता हूं कि 2023 में भी आप अविश्वास प्रस्ताव लाएं। ये अहंकार का भाव है कि आप 400 से 44 पर आ गए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget