प्रधानमंत्री की नकल करने वाले विपक्षी कलाकार : मुख्यमंत्री

भीड़ न आने से यह साफ दिखाई दे रहा है कि इन्हें जनता ने नकार दिया है। जनसभा में विपक्ष के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्टाइल मारते फिर रहे हैं। मैं उन सभी नकलची  कलाकारों को कहना चाहूंगा कि सूर्य की तरफ अगर थूकोगे तो थूक तुम्हारे मुंह पर ही आएगी। आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर शुक्रवार को नांदेड में पार्टी के बूथ  प्रमुखों का कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जिसे संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस, राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राकांपा के वरिष्ठ नेता छगन भुजबल पर जमकर  निशाना साधा, जिसमें सीएम ने कहा कि स्वतंत्र लड़ाई की बात करने वाले भुजबल भ्रष्टाचार के मामले में जेल की सजा काट चुके हैं और जमानत पर बाहर है। इसलिए उनसे मैं कहना चाहता हूं कि क्या बोलना है और कितना बोलना है, इस पर उन्हें विचार करना चाहिए। जम्मू-कश्मीर स्थित पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले में शहीद जवानों को लेकर पूरे  देश के साथ-साथ विपक्ष ने भी शोक व्यम्त किया था यह सही बात है, लेकिन अब विपक्ष इस पर राजनीति कर रही है। अगर विपक्ष सच्चा देशभक्त है, तो सैनिकों के साथ वो खड़ा रहे। मुख्यमंत्री फड़नवीस ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हराने के लिए विपक्षियों द्वारा किए गए महागठबंधन में दो गुट बन गया है।
पीएम मोदी देश को सुजलाम और सुफलाम करने के लिए देश की सेवा कर रहे है, वहीं दूसरी तरफ विपक्षी दल महागठबंधन के नाम पर अपने परिवार को कुर्सी दिलाने का विचार  कर रही है। बूथ प्रमुखों में उत्साह भरते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा को नहीं, बल्कि देश को जीत दिलाने के लिए चुनाव में काम करों। एक बार फिर राकांपा नेता छगन  भुजबल पर हमला बोलते हुए फड़नवीस ने कहा कि स्वतंत्रता की लड़ाई या राज्य के गरीब जनता के हित की लड़ाई में भुजबल जेल नहीं गए थे, बल्कि राज्य की तिजोरी के पैसे को  अपने तिजोरी में करने और भ्रष्टाचार के आरोप में जेल गए थे और तीन साल तक जेल में रहने के बाद जमानत पर रिहा है, यह उनको नहीं भूलना चाहिए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget