एक-एक घुसपैठिए को बाहर किया जाएगा: शाह

जम्मू
भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने जम्मू में चुनावी बिगुल बजाते हुए रविवार को कहा कि असम की तर्ज पर कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक- एक घुसपैठिए को चुन-चुनकर  बाहर निकाला जाएगा। अमित शाह ने 'विजय संकल्प सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि असम की तर्ज पर कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक-एक घुसपैठिए को चुन-चुनकर  को बाहर किया जाएगा। उन्होंने आतंकवाद से मुकाबले के लिए मोदी सरकार के संकल्प समेत विभिन्न मुद्दों के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि आतंकवाद पर भारत सरकार की  नीति 'कतई बर्दाश्त नहीं करने की है। उन्होंने पिछली सरकारों द्वारा जम्मू और लद्दाख क्षेत्रों से भेदभाव किए जाने के बारे में बात की और कहा कि चौकीदार ने यह सुनिश्चित किया कि इन क्षेत्रों को दी जाने वाली धनराशि वित्तास पर खर्च हो सके। शाह ने कहा कि कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी की वंशवादी सरकारें अपने-अपने विकास को लेकर ज्यादा  परेशान थीं, लेकिन जब से भाजपा सरकार आई तो हमने यह सुनिश्चित किया कि हर एक पैसा आम लोगों तक पहुंचे। उन्होंने कहा कि भारतीय जनसंघ के नेता श्यामा प्रसाद  मुखर्जी ने जिस स्थान पर अपने जीवन का बलिदान दिया, वह हमारा है। शाह ने 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले का जिक्र किया जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए  थे। उन्होंने कहा कि इन जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। प्रधानमंत्री ने आतंकवाद के दोषियों के खिलाफ किसी भी दंडात्मक कार्रवाई किए जाने का अधिकार सुरक्षा बलों को दे  दिया है। जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने के खिलाफ विरोध जताने के लिए कश्मीर में प्रवेश करने पर 11 मई, 1953 को मुखर्जी को गिरफ्तार कर लिया गया था। उनकी  जून, 1953 में दिल का दौरा पड़ने से हिरासत में मौत हो गई थी। असम में एनआरसी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी देश से एक-एक घुसपैठिए को बाहर करने के  लिए कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक इसी तरह की मुहिम चलाएगी।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget