यूपी और उत्तराखंड ने बनाई संयुक्त जांच टीम

उत्तराखंड
सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रुड़की में जहरीली शराब से हुई मौत के मामले में कहा कि उनकी बात यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हुई है। बातचीत के बाद यूपी और उत्तराखंड  ने एक संयुक्त कमेटी बनाई है। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब से हुई मौत मामले की जांच यह कमेटी करेगी, ताकि असलियत सामने आ सके। उन्होंने कहा कि  निश्चित रूप में दोषियों तक पहुंचा जाएगा और उन्हें कड़ी से कड़ी सजा भी दी जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसी घटना भविष्य में घटित न हो, इसके लिए विभाग को अलर्ट  किया गया है। इसे लेकर विभाग सक्रिय है। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इस घटना ने उन्हें झकझोर दिया है, इसलिए घटना की तह तक पहुंचा जाएगा। सीएम ने कहा कि  पिछले दो सालों में उत्तराखंड में अवैध शराब की रिकॉर्ड रिकवरी हुई है।
सूखा नशा जैसे स्मैक वगैरह भारी मात्रा में पकड़ी गई है। उन्होंने कहा कि नशे की अवैध सामग्री पकड़ने के लिए उकराखंड सहित पंजाब और हरियाणा की सरकारें संयुक्त रूप से कार्यरत हैं। सीएम ने कहा कि ड्राई नशा देश की सीमाओं के बाहर से भी आता है। इसे रोकने के लिए हर तीन महीने में इन राज्यों के अधिकारी बैठक कर रहे हैं और काम कर रहे  हैं। जहरील शराब से हुई मौत मामले में मुआवजा दिए जाने के संदर्भ में मुख्यमंत्री ने कहा कि वे पहले इसकी जांच करवाएंगे। जांच हो जाने के बाद ही इस दिशा में सरकार कदम आगे बढ़ाएगी। उन्होंने कहा कि अभी मुआवजा देने से हो सकता है कि इस मामले में संलिप्त को भी मुआवजा मिल जाए। सीएम ने कहा कि जहरीली शराब पीने से हुई मौत के  मामले की जांच एडीएम कर रहे हैं। जांच होने के बाद ही मुआवजा दिए जाने की बात की जाएगी। सीएम ने विपक्ष द्वारा रुड़की में जहरीली शराब कांड को लेकर उठाए जा रहे  सवालों पर कहा कि इस समय जहरीली शराब पीने से जिनकी हालत बिगड़ी हुई है, उनका इलाज किया जाना महत्वपूर्ण है। ऐसे समय में राजनीति नहीं बल्कि लोगों के प्रति संवेदना  होनी चहिए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget