आज से विधान मंडल का बजट सत्र

मुंबई
महाराष्ट्र विधानमंडल का छह दिवसीय बजट अधिवेशन आज (सोमवार 25 फरवरी) से शुरू हो रहा है। लोकसभा चुनाव नजदीक आने की वजह से बजट अधिवेशन पर चुनाव का  साया स्पष्ट रूप से नजर आएगा। सरकार की तरफ से लोक लुभावन घोषणाएं होने की उक्मीद है, जबकि विपक्ष किसानों की कर्जमाफी, धनगर-मुस्लिम आरक्षण, फसल बीमा योजना, किसानों की आत्महत्या, राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति आदि मसलों पर सरकार की घेराबंदी करेगा। अधिवेशन के दौरान 11 विधेयक सदन के पटल पर रखे जाने  जाएंगे। बजट सत्र की शुरुआत राज्यपाल सी. विद्यासागर राव के अभिभाषण से होगी। मंगलवार 26 फरवरी को पूरक मांग रखी जाएगी और उसी दिन इसे पारित भी किया जाएगा।  27 फरवरी को विधानसभा में राज्य के वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार तथा विधान परिषद में वित्त राज्यमंत्री दीपक केसरकर अंतरिम बजट पेश करेंगे। सूखे पर एक दिन की चर्चा होगी। अधिवेशन दो मार्च को स्थगित हो जाएगा। विधान परिषद में विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे ने सरकार से लोक लुभावन घोषणाओं से बचने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि यह  अंतरिम बजट है, इसलिए नैतिकता के आधार पर सरकार को नई योजनाओं की घोषणा करने से बचना चाहिए। सरकार मुंडे की सलाह को कितना मानती है, यह तो आने वाला वक्त  ही बताएगा, लेकिन लोकसभा चुनाव को देखते हुए किसानों के लिए कई घोषणाएं होने की उक्मीद है। अधिवेशन के दौरान 11 विधेयक सदन के पटल पर रखे जाएंगे।
विधानसभा में जो नए विधेयक पेश किए जाएंगे, उनमें पुणे के अंबी तलेगांव में डीवाई पाटिल विश्वविद्यालय और मुंबई के विद्याविहार में केजी सोमैया विश्वविद्यालय की स्थापना  संबंधी विधेयक भी शामिल है। छोटे समुदायों को लाभ पहुंचाने के लिए भूमि राजस्व संहिता में भी संशोधन का विधेयक लाइन में है। इसके अलावा लोक न्यास अधिनियम में भी  संशोधन का महत्वपूर्ण विधेयक इस सत्र के दौरान पेश हो सकता है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget