मिस्ट्री मैन बने मांझी

बिहार की वर्तमान राजनीति के लिए मिस्ट्री मैन बने हुए हैं। वे महागठबंधन में ही रहेंगे या या फिर पाला बदल लेंगे, इसको लेकर लगातार कयास लगाए जा रहे हैं। इन कयासों को रविवार को और बल मिला जब जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने उन्हें एनडीए में शामिल होने का खुला  ऑफर दे दिया। वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि जीतनराम  मांझी महागठबंधन में परेशान हैं। अगर वे एनडीए में आना चाहते हैं तो उनका जोरदार स्वागत होगा। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मांझी ने सीएम नीतीश कुमार के धारा 370 के स्टैंड का समर्थन कर उन्होंने भी इसकी पहल शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि अगर वे एनडीए में आएंगे तो उन्हें पर्याप्त तवज्जो मिलेगी। इस बीच बिहार कांग्रेस ने जेडीयू के इस ऑफर पर  तीखी प्रतिक्रिया व्य€त की है। पार्टी के विधायक दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि जिस थाली को मांझी ने ठुकरा दिया है, वे दोबारा उस थाली में भोजन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि जल्द ही मांझी की नाराजगी दूर कर दी जाएगी। आपको बता दें कि शनिवार को रिम्स के पेइंग वार्ड में लालू यादव से मिलने जीतनराम मांझी, राजद उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह और
राज्यसभा सांसद अशफाक करीम पहुंचे थे। लालू से मुलाकात भी महागठबंधन में सीट शेयिरग का आखिरी फॉर्मूला नहीं निकल पाया है। हालांकि ये जरुर कहा गया है कि तीन-चार दिनों  में इसका हल निकाल लिया जाएगा। आपको बता दें कि मांझी कांग्रेस से अधिक सीटों की मांग कर रहे हैं। वे बता रहे हैं कि बिहार में हम का जनाधार कांग्रेस से ज्यादा है। इसलिए  उन्हें कांग्रेस से अधिक सीटें चाहिए। बहरहाल देखना दिलचस्प होगा कि बिहार की वर्तमान राजनीति के लिए 'मिस्ट्री मैन’ बने मांझी का अगला रुख €या होगा?
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget