अब एक्शन की बारी

सोल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद पर एक बार फिर से पड़ोसी पाकिस्तान को घेरा है। साउथ कोरिया में सोल शांति पुरस्कार मिलने के बाद पीएम ने बिना नाम लिए कहा कि भारत  पिछले 40 साल से सीमा पार आतंकवाद का सामना कर रहा है। अब वक्त आ गया है कि जो मानवता में विश्वास करते हैं वे ऐसी हरकतों को मुंहतोड़ जवाब दें। उन्होंने कहा कि  ऐसा करके ही हम दुनिया में शांति स्थापित कर सकते हैं।

पाकिस्तान पर हमला :
पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर घेर रहे पीएम मोदी ने सोल में भी पाकिस्तान का जिक्र किया। उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि भारत पिछले 40 सालों से  बॉर्डर पार से हो रहीं आतंकी साजिशों का शिकार हो रहा है। उन्होंने कहा कि अब वक्त आ गया है कि मानवता में विश्वास रखने वाले एक साथ होकर आतंकवाद और उनको सपोर्ट  करने वालों को खत्म करें। यहां उन्होंने साउथ कोरिया के राष्ट्रपति की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने समझदारी दिखाते हुए नॉर्थ कोरिया के साथ बातचीत करके संबंध ठीक किए।

'नमामी गंगे’ को दान की इनाम में मिली राशि :
पीएम  मोदी को इस पुरस्कार के साथ लगभग 1 करोड़ 30 लाख रुपए भी मिले थे, जिसे उन्होंने गंगा को साफ करने के लिए चलाई जा रही योजना 'नमामी गंगे’ को देने का एलान किया। पीएम ने आगे कहा कि मुझे खुशी है कि यह पुरस्कार उस साल मिला, जब हम लोग महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहे हैं।

पुरस्कार पाने वाले पहले भारतीय बने मोदी :
साउथ कोरिया ने 1990 से इस पुरस्कार से लोगों को नवाज रहा है। हर दो साल में यह पुरस्कार दिया जाता है। साउथ कोरिया सद्भाव और दोस्ती बढ़ाने वाले लोगों को इससे नवाजता है। बता दें कि मोदी से पहले संयुक्त राष्ट्र के पहले अश्वेत महासचिव कोफी अन्नान, संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल आदि को भी यह  पुरस्कार दिया जा चुका है। मोदी यह पुरस्कार पाने वाले दुनिया के 14वें और भारत के पहले शक्स बन गए हैं।

पुरस्कार भारत के नाम :
पुरस्कार मिलने के बाद पीएम मोदी ने सभी का शुक्रिया किया और कहा कि यह अवॉर्ड दिखाता है कि भारत ने पिछले 5 साल में कितना विकास किया है। उन्होंने इस पुरस्कार को  भारत के लोगों को समर्पित किया। वसुधैव कुटुंबकम का जिक्र कर उन्होंने कहा कि यह अवॉर्ड दिखाता है कि पूरी दुनिया एक परिवार की तरह है। पीएम ने कहा कि यह अवॉर्ड उस  धरती को जाता है, जहां भगवत गीता का संदेश मिला और हमेशा शांति की बात की गई। इसके बाद उन्होंने एनडीए सरकार द्वारा चलाई गई विभिन्न  योजनाओं का जिक्र किया।  इसमें डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया, क्लीन इंडिया, आयुष्मान भारत आदि का जिक्र था।

भारत-दक्षिण कोरिया के बीच छह एमओयू पर हस्ताक्षर :
भारत और दक्षिण कोरिया ने आधारभूत ढांचे के विकास, मीडिया,स्टार्टअह्रश्वस, सीमा पार और अंतर्राष्ट्रीय अपराध से निपटने जैसे अहम क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए शुक्रवार को छह समझौतों पर हस्ताक्षर किए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दक्षिण कोरिया के साथ कूटनीतिक संबंधों को मजबूत करने के लिए दो दिवसीय दौरे पर यहां बृहस्पतिवार को पहुंचे। उन्होंने  प्रथम महिला किम जुंग सूक से भी मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच व्यापार, निवेश, रक्षा तथा सुरक्षा जैसे अनेक क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने पर रचनात्मक बातचीत के बाद  समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया कि दोनों नेताओं की मौजूदगी में भारत और दक्षिण कोरिया के बीच मीडिया ,स्टार्टअप्स,  पुलिस तथा अन्य क्षेत्रों में छह दस्तावेजों पर हस्ताक्षर/आदान प्रदान हुए।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget