सिंधू दर्शन यात्रा अनुदान राशि 10 हजार से बढाकर 20 हजार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सिंधु दर्शन यात्रा की अनुदान राशि 10 हजार से बढ़ाकर 20 हजार रुपए कर दी है। उन्होंने अगले साल कैलास मानसरोवर यात्रा पर जाने वाले  श्रद्धालुओं को कैबिनेट के साथ नेपाल के किसी स्थान पर विदाई करने की भी घोषणा की। प्रतीक स्वरूप मानसरोवर और सिंधु यात्रा पर गए कुछ श्रद्धालुओं को क्रमश: एक-एक लाख  और 10-10 हजार रुपए का अनुदान राशि का चेक भी दिया।
योगी लखनऊ स्थक्ति लोकभवन में कैलास-मानसरोवर और सिंधु यात्रा पर पिछले साल गए श्रद्धालुओं के लिए आयोजक्ति अनुदान वक्तिरण कार्यक्रम को संबोधक्ति कर रहे थे। इस  दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हम विकास के साथ आस्था का भी सम्मान करते हैं। पिछली सरकारों का इन दोनों से कोई सरोकार नहीं था। उनका सरोकार अराजकता, लूट-खसोट और  भ्रष्टाचार से था।
आस्था तो उनके लिए हासिये पर थी। अयोध्या के नाम से उनको करंट लगता था। मथुरा, वृंदावन और बरसाना का नाम तो भूले से भी नहीं लेते थे। थानों पर जन्माष्टमी के  आयोजन को बंद करवा दिया। कांवड़ियों को भजन गाने से रोक दिया। कुंभ के आयोजन की जिम्मेदारी एक ऐसे व्यक्ति को दी, जिसकी निष्ठा ही संदिग्ध है। योगी ने कहा कि हमने  विकास के साथ आस्था का भी सम्मान किया। अयोध्या का दीपोत्सव, वाराणसी की देव दीपावली और मथुरावृंदावन का रंगोत्सव इसका प्रमाण है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget