'शहीदों के परिजनों को लोनिवि देगा 4.95 करोड़ की सहायता’

लखनऊ
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शुक्रवार को प्रदेश में बनने वाले 11927 मार्गों का शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों के  एक दिन के दिए वेतन से जुटाये 4।95 करोड़ रुपए शहीद सैनिकों के परिजनों को देने की घोषणा की। लोक निर्माण विभाग के विश्वेश्वरैया हॉल में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव  प्रसाद मौर्य ने प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में 2262 करोड़ की लागत से बनने वाले 18486 किलोमीटर लंबाई के 11927 मार्गों का शिलान्यास डिजिटल तरीके से किया। इस मौके पर  उन्होंने लोक निर्माण विभाग के सभी कर्मचारियों व अधिकारियों की तरफ से शहीदों की आत्मा के प्रति विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की।
मौर्य ने इस अवसर पर कहा कि लोक निर्माण विभाग के समस्त अधिकारी तथा कर्मचारी अपना एक दिन का वेतन लगभग 4.95 करोड़ शहीद परिवारों के सहयोग हेतु देंगे। वहीं  पुलवामा आतंकवादी हमले एवं उसके बाद सैन्य गतिविधियों में शहीद हुए प्रदेश के अभी तक सभी 15 सैनिकों के गृह स्थानों को जोड़ने वाले संपर्क मार्गों का सुधार या नव निर्माण  लोक निर्माण विभाग द्वारा श्रद्धांजलि स्वरूप किया जाएगा। लोक निर्माण विभाग सभी बलिदानी वीरों के गांव की सड़कों को उनके नाम से बनाकर मुख्य मार्ग से जोड़ेगा तथा उनके  प्रवेश द्वार भी बनेगा, जिसका नामकरण शहीद सैनिक के नाम पर किया जाएगा। उपमुख्यमंत्री ने शिलान्यास किये जाने वाले मार्गों का विवरण देते हुये कहा कि सामान्य मरम्मत के अंतर्गत 1049 करोड़ की लागत से बनने वाले 9525 किमी लंबे 6508 मार्ग हैं, जबकि विशेष मरम्मत के अन्तर्गत 1213 करोड़ की लागत से बनने वाले 8961 किमी लम्बे
5419 मार्ग हैं।
इस प्रकार कुल 2262 करोड़ की लागत से बनने वाले 18486 किमी लंबे कुल 11927 मार्गों का शुक्रवार को शिलान्यास डिजिटल तरीके से किया गया है, जिसका स्थानीय जन  प्रतिनिधियों की देख- रेख में कार्य संपन्न किया जाएगा। उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा 4600 से अधिक ग्रामों को जोड़ने के लिये स्वीकृतियां जारी कर दी गयी  हैं तथा निर्माण कार्य प्रगति पर है। अब तक 5423 किमी लंबाई के ग्रामीण मार्गों का निर्माण हो चुका है। 250 से अधिक आबादी के समस्त राज्स्व ग्रामों के संपर्क मार्गों की स्वीकृतियां जारी कर दी गयी हैं, जिनका निर्माण कार्य प्रगति पर है। सात मीटर या उससे अधिक चौड़े सभी प्रकार के मार्गों पर पड़ने वाले गांव को मुख्य मार्ग से जोड़े जाने का कार्य  प्रगति पर है।
इस प्रकार चिन्हित 1915 बसावटों हेतु 1198 करोड़ की स्वीकृतियां जारी कर दी गयी है। 1046 किमी लंबी 510 अनजुड़ी बसावटों को संतृप्त करने के लये 617 करोड़ की भी  स्वीकृतियां जारी की गयी हैं। उन्होंने कहा कि मार्ग पर यातायात बढ़ने एवं क्रस्ट कम होने की स्थिति में मार्ग रि-हैबिलिटेशन, सतह सुधार की स्वीकृति शासन से प्राप्त की जायेगी  तथा लोक निर्माण विभाग पर्यावरण अनुकूल एवं सुरक्षित सड़के बनाने के लिये संकल्पित है। अब तक नवीन तकनीक से सड़क बनाकर विभाग ने 942 करोड़ की बचत की है, जबकि  30.42 लाख घन मीटर पत्थर की बचत कर 12 लाख टन कार्बन उत्सर्जन में कमी लायी गयी। यह दो लाख 59 हजार करोड़ कारों से एक वर्ष में होने वाले कार्बन उत्सर्जन के बराबर  है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget