ठाणे में भी माफ हो 500 वर्ग फीट वाले घरों का टैक्स

ठाणे
मुंबई वासियों को 500 वर्ग फीट तक के घर को टैक्स में छुट मिलने जा रहा है। इस पर राज्य के मंत्रिमंडल ने भी अपनी मुहर लगा दी है, लेकिन इस छुट का ठाणे वासियों को  किसी तरह का लाभ मिलता नहीं दिखाई दे रहा है। इसका मुख्य कारण यह है कि दोनों शहरों की मनपाएं अलग-अलग हैं। दुसरी तरफ ठाणे के नागरिक मनपा पर काबिज सत्ता दल  से पूंछ रहे हैं कि उन्हें यह लाभ कब तक मिलेगा। इतना ही नहीं भाजपा और राकांपा ने भी शिवसेना को घेरना शुरू कर दिया है। दोनों पार्टियों ने शिवसेना पर प्रहार करते हुए कहा  है कि बीते ढाई दशक से ठाणे मनपा में सत्ता सुख भोग रही शिवसेना द्वारा ठाणेवासियों को दिए अपने वचन को कब पूरा किया जाएगा। विरोधी दलों का कहना है कि शिवसेना का  क्या यह महज चुनावी जुमला था।
2017 में हुए महानगर पालिका चुनाव में शिवसेना ने अपने वचन नामे में मुंबई और ठाणे के 500 वर्ग फुट के घरों को टैक्स में पूरी छुट और 700 वर्ग फुट वाले घरों में 50 फीसदी  छुट देने का आश्वासन दिया था। यह घोषणा खुद शिवसेना के पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने किया था। ऐसे में मुंबई महानगर पालिका में सत्तादल शिवसेना ने कर माफी का प्रस्ताव  मंजूर करा लिया था। इतना ही नहीं वहां के आयुक्त ने राज्य सरकार की मंजूरी के लिए प्रस्ताव को भेज दिया था। वहीं ठाणे मनपा में सत्तादल शिवसेना के नगरसेवक ही इस  आश्वासन को भूल गए, जिसके बाद विपक्षी दल राकांपा की तरफ से हनुमंत जगदाले और भाजपा की तरफ से नगरसेवक कृष्णा पाटिल और नंदा पाटिल ने पत्र देकर कर माफी के  लिए सदन की पटल पर प्रस्ताव लाने की मांग की थी। हालांकि इसके बाद सत्तादल शिवसेना के नगरसेवकों ने भी समर्थन देते हुए प्रशासन से उचित कार्यवाही का आग्रह किया था।  इसके बाद भी अब तक इस पर प्रशासन की तरफ से किसी तरह का ठोस निर्णय नहीं लिया गया है। हालांकि राज्य सरकार की तरफ से एक पत्र द्वारा इस कर माफी को लेकर  सवाल पुछा गया था, जिस पर मनपा ने जवाब दिया था कि मनपा के अधिनियम में इस तरह के कर माफी का प्रावधान ही नहीं है। इस पर अंतिम निर्णय राज्य सरकार को लेना  होगा। ऐसे में अब राकांपा और भाजपा इस मुद्दे को लेकर मुखर नजर आ रही है।
राकांपा अध्यक्ष आनंद परांजपे ने कहा कि पार्टी इसे लेकर सड़क पर उतारते हुए ठाणेकरों को भी टैक्स माफी का अधिकार दिलाकर रहेगी, जबकि भाजपा नगरसेवक कृष्णा पाटिल ने  शिवसेना पर हमला बोलते हुए कहा कि अपने चुनावी घोषणा को ही अब यह पार्टी भूल गई है। सिर्फ आश्वासनों की खैरात बांटती दिख रही है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget