'पायलट प्रोजेक्ट पूरा, रियल बाकी’

नई दिल्ली
पाकिस्तान की ओर से अभिनंदन की रिहाई के एलान के कुछ ही देर बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के विज्ञान भवन में शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार समारोह के दौरान स्पीच दे  रहे थे। उन्होंने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर उस पर तंज कसा। प्रधानमंत्री ने कहा कि पायलट प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद उसे बढ़ाया जाता है, तो अभी एक पायलट प्रोजेक्ट हो  गया। अभी रियल करना है, पहले तो प्रैक्टिस थी।
मोदी के इस बयान पर विज्ञान भवन में तालियां बजने लगीं। पीएम मोदी के भाषण की मुख्य बातें
  • अभी-अभी एक पायलट प्रोजेक्ट पूरा हो गया। अभी रियल करना है, पहले तो प्रैक्टिस थी।
  • आज भारत दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन चुका है और भारतीय वैज्ञानिकों ने हमेशा मानवता की भलाई के लिए अपना योगदान दिया है।
  • विज्ञान से जुड़े हमारे संस्थानों को भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप अपने आपको गढ़ना होगा। हमें अपनी मौलिक शक्ति को बनाए रखते हुए भविष्य के समाज और इकॉनमी के हिसाब से ढालना होगा।
  • जब इच्छाशक्ति हो तो सीमित संसाधनों में भी कैसे अद्भुत परिणाम दिए जा सकते हैं, इसका उदाहरण हमारा अंतरिक्ष कार्यक्रम है।
  • बायो फ्यूल के मामले में भी सीएसआईआर बड़ी भूमिका निभा रहा है। सीएसआईआर ने जो एविएशन बायो फ्यूल बनाया है, उसका ट्रायल भी 27 अगस्त 2018 को, इससे संचालित होने वाले हवाई जहाज को देहरादून से दिल्ली तक उड़ाकर किया जा चुका है। अब हमारे फार्मा सेक्टर और बायोटेक सेक्टर को अधिक गति देने का समय आ गया है।
  • आज भारत दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन चुका है। लोकतंत्र, आबादी और मांग की ताकत भी है। युवाओं का इसमें खासा योगदान है।
  • अगर हमारी संस्थाओं की सोच पुरानी होगी, तो आकांक्षाएं पूरी नहीं हो पाएंगी। प्रधानमंत्री ने अनुसंधान एवं नवाचार को गति देने की जरूरत बताई और कहा कि हमारे शोध को  समाधानोन्मुख होना चाहिए। इसे स्वास्थ्य, सफाई, स्वच्छता, कचरा प्रबंधन, कृषि, साइबर सुरक्षा जैसे विषयों में सवालों का उत्तर बनना होगा।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget