भारत की कूटनीतीसे पाक पस्त

आज देश में अभिनंदन


पाकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि वह पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले में जैश-ए- मोहम्मद की भूमिका और उसके यहां संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित आतंकी  संगठन के शिविरों की मौजूदगी के बारे में खास विवरण पर भारत द्वारा सौंपे गए डॉजियर का 'खुले दिल’ से आकलन करेगा। भारत ने बुधवार को पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त को डॉजियर सौंपा था, जिन्हें पाकिस्तानी वायुसेना द्वारा भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाए जाने पर कड़ा प्रतिरोध दर्ज कराने के लिए नई दिल्ली में विदेश  मंत्रालय द्वारा तलब किया गया था। विदेश मंत्रालय ने कहा था कि पाकिस्तान को बताया गया कि भारत उम्मीद करता है कि इस्लामाबाद अपने नियंत्रण वाले क्षेत्र से होने वाली  आतंकी गतिविधियों के खिलाफ तत्काल और प्रमाणिक कार्रवाई करेगा। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को इस बात की पुष्टि की है कि उसे पुलवामा हमले पर डॉजियर  मिला है। विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि खुले दिल से भारतीय डॉजियर का आकलन करेंगे।
विदेश विभाग ने एक बयान में कहा कि उसके द्वारा डॉजियर की समीक्षा की जाएगी, जिसके बाद किसी भी और सभी कानूनी साक्ष्यों की जांच की जाएगी। इसमें कहा गया कि  इस्लामाबाद भारत द्वारा उपलब्ध कराए गए विश्वसनीय साक्ष्यों पर कार्रवाई करेगा।
प्रधानमंत्री इमरान खान पहले ही कह चुके हैं कि पाकिस्तान पुलवामा आतंकी हमले की जांच में मदद करेगा। बयान में कहा गया कि पाकिस्तान आतंकवाद समेत सभी मुद्दों पर  बातचीत के लिए तैयार है। बता दें कि एक दिन पहले पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने भारतीय क्षेत्र में हमले की कोशिश की थी, जिसे भारतीय जेट ने नाकाम कर दिया था। इस  कार्रवाई में पाकिस्तान का एक एफ-16 जेट मार गिराया गया और इसी दौरान भारत का एक मिग 21 भी गिर गया और विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान ने अपनी हिरासत में ले लिया।
पूरी रात खौफजदा था पाकिस्तान इसके बाद से ही हालात तेजी से बिगड़ रहे थे। पाकिस्तान को डर था कि भारत अभिनंदन को छुड़ाने के लिए कोई बड़ा एक्शन ले सकता है। पीएम  इमरान खान के संबोधन में भी यह घबराहट दिखी। उन्होंने कहा कि हमने भारत को कल पैगाम पहुंचाया। हमने पीएम मोदी से बात करने की भी कोशिश की थी। दुनिया के कई देशों  से बात कर तनाव को कम करने की कोशिश की गई। इमरान ने खुद कहा कि कल रात पाकिस्तान को यह आशंका थी कि कोई मिसाइल हमला हो सकता है। पाक संसद में बोलते  हुए इमरान खान ने अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि करतारपुर कॉरिडोर को तनाव कम करने के लिए खोलने का फैसला किया गया। पुलवामा हमले से पल्ला झाड़ते हुए  इमरान ने कहा कि सऊदी के क्राउन प्रिंस उस समय पाकिस्तान में आए थे, ऐसे समय में कौन सा मुल्क पुलवामा जैसी दहशतगर्दी करवाएगा? इससे पाकिस्तान को क्या मिलता? उन्होंने कहा कि भारत का पुलवामा पर दस्तावेज आज पाकिस्तान पहुंचा है। इससे दो दिन पहले ही भारत ने एक्शन ले लिया।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget