एटीएफ के दामों ने बढ़ाई एअरलाइन्स कंपनीयोंकी मुश्किलें

नई दिल्ली
एयर कनेक्टिवक्टिी बढ़ाने और ज्यादा लोगों को हवाई सफर कराने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना उड़ान का झटका लग सकता है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले  एयर टरबाइन फ्यूल(एटीएफ) के महंगा होने की वजह से यह आसार जताए जा रहे हैं। मार्च में एटीएफ की कीमतों में 10 फीसदी की बढ़ोत्तरी हो रही है। लिहाजा, एयरलाइंस  कंपनियों को इसकी भरपाई करने के लिए फ्लाइट का किराया बढ़ाना पड़ेगा। अभी ज्यादातर छोटे शहरों में 3000 हजार रुपए तक में हवाई सफर का मौका मिल जाता है, लेकिन अब इसमें इजाफा हो सकता है। यह बढ़ोतरी ऐसे समय में हो रही है जब जेट एयरवेज और इंडिगो एयरलाइंस अपनी कई उड़ानों को रद्द कर रही हैं। हालांकि, दोनों एयरलाइंस कंपनियों  के फ्लाइट्स रद्द होने के बिल्कुल अलग कारण हैं। इन एयरलाइंस कंपनियों की तरफ से उड़ानों की संख्या कम करने से सीटों की संख्या घटेगी। एयरलाइंस कंपनियां बढ़ती लागत को  देखते हुए हवाई किराया महंगा कर सकती हैं। घरेलू उड़ानों के लिए दिल्ली और मुंबई में एटीएफ के एक किलो-लीटर की कीमत क्रमश: 58,060.97 रुपए और 58,017.33 रुपए है। 
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget