गंगा-पुत्री बन प्रियंका ने मांगा वोट


प्रयागराज
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार को उत्तर प्रदेश में अपने चुनावी अभियान की शुरुआत करते हुए गंगा-पुत्री बनकर कांग्रेस के लिए वोट मांगा। बीएसपी-एसपी द्वारा  कांग्रेस को लेकर दिए गए बयान पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि वे कांग्रेस के समर्थन के बिना भाजपा को हराने में सक्षम हैं। हम अकेले चुनाव लड़ रहे हैं, हमें किसी को लेकर  एतराज नहीं है, हम किसी को परेशान नहीं करना चाहते, हमारा लक्ष्य भाजपा को हराना है। उनका लक्ष्य भी भाजपा को हराना है।
प्रयागराज से वाराणसी के बीच गंगा नदी में 100 किलोमीटर के सफर पर निकली प्रियंका ने अपने पहले पड़ाव के तहत भदोही के सीतामढ़ी स्थित जानकी मंदिर परिसर में आयोजित  जनसभा में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमले किए। प्रियंका ने कहा कि आपकी तरह हम भी थक गए हैं, ऐसी सरकार से जो हमारे संविधान और संस्थाओं को बिगाड़ना  चाहती है, जो जनता की आवाज नहीं सुनती। हम सब आपके साथ खड़े हैं। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि राजनीतिक शक्ति उसे कहते हैं, जो सबकी बात सुने। प्रियंका ने कहा कि विघटनकारी और छलावे से भरी इस राजनीति को ठीक करने का काम कांग्रेस नहीं, बल्कि जनता करेगी। शक्ति आपके हाथों में है। इस बात को हल्के में मत लीजिए। आपने हम  सबको बनाया है। आप इस देश की हिफाजत करेंगे। उन्होंने अपने भाई कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का जिक्र करते हुए भावनात्मक अंदाज में कहा कि मैंने और मेरे भाई ने बहुत  संघर्ष देखे हैं, अपने पिता की शहादत देखी है। हमने अपने परिवार के सदस्यों का इस देश के लिए बलिदान देखा है। हम जानते हैं कि जनता की मांग, उसकी समस्या, उसकी  आशाएं महत्वपूर्ण हैं। हमने यह सीखा है। राहुल जी आपकी भलाई चाहते हैं, और कुछ नहीं। उनको सत्ता का कोई शौक नहीं है। इसके पूर्व, कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश  की प्रभारी प्रियंका ने प्रयागराज में लेटे हनुमान के दर्शन किए और विधिविधान से गंगा की आरती तथा पूजा करने के बाद क्रूज बोट से अपनी प्रयागराज से बनारस की तीन दिवसीय  यात्रा मनैया घाट से शुरू की।
प्रियंका की यह यात्रा छह संसदीय क्षेत्रों प्रयागराज, फूलपुर, भदोही, मिर्जापुर, चंदौली और वाराणसी से होकर गुजरेगी। उनकी तीन दिवसीय यात्रा 20 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के  संसदीय क्षेत्र वाराणसी में संपन्न होगी। रैली के बाद प्रियंका सीतामढ़ी स्थित जानकी मंदिर के गेस्ट हाउस चली गईं।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget