कांग्रेस में मची भगदड़, वडक्कन बने भाजपाई

नई दिल्ली
जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव की वोटिंग की तारीख नजदीक आ रही है, राजनीतिक दलों में उठापटक जारी है। खासतौर पर कांग्रेस और टीएमसी जैसे दलों से भाजपा में जाने की भगदड़  दिख रही है। गुरुवार को एक तरफ केरल में कांग्रेस के सीनियर लीडर और प्रवक्ता टॉम वडक्कन ने भाजपा का दामन थाम लिया, तो दूसरी तरफ टीएमसी के विधायक अर्जुन सिंह
भगवा दल में आ गए। टॉम वडक्कन को सोनिया और राहुल का बहुत ही नजदीकी माना जाता है। वडक्कन के इस कदम से कांग्रेस परेशान है। इससे पहले बुधवार को टीएमसी से  निष्कासित सांसद अनुपम हाजरा भी भाजपा में आ गए थे। हाजरा ने 2014 में बोलपुर लोकसभा सीट से चुनाव जीता था। महाराष्ट्र में कांग्रेस के नेता विपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल के बेटे सुजॉय ने भी भाजपा का दामन थाम लिया। इसके चलते प्रदेश कांग्रेस में ही उठापटक की स्थिति है और अन्य नेता विखे पाटिल पर इस्तीफे का दबाव बना रहे हैं। केरल के  सीनियर लीडर टॉम वडक्कन ने कांग्रेस की नीतियों से परेशान होने की बात कहकर भाजपा का दामन थामा है। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उन्हें भाजपा में आधिकारिक रूप से शामिल कराया।

सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल से आहत :

भाजपा में शामिल होने के साथ ही टॉम वडक्कन ने कांग्रेस पर ताबड़तोड़ हमले किए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगे जिससे मैं दुखी हुआ। मैंने कांग्रेस  को 20 साल सेवा दी लेकिन वहां यूज एंड थ्रो की नीति है। उन्होंने कहा कि मेरे पास विकल्प नहीं था। कांग्रेस ने सेना और पुलवामा हमले पर सवाल उठाए। देश के खिलाफ रुख  अपनाया, जिससे मैं आहत हुआ। इससे पहले कर्नाटक में कांग्रेस के पूर्व विधायक उमेश जाधव ने भी पार्टी और विधायक पद से इस्तीफा सौंप दिया था। वहीं गुजरात में पिछले दिनों  कांग्रेस के तीन विधायकों ने इस्तीफा दिया है। कांग्रेस कार्य समिति की यहां बैठक से एक दिन पहले जामनगर (ग्रामीण) से विधायक वल्लभ धारविया ने पार्टी छोड़ दी थी और विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को इस्तीफा सौंप दिया था।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget