पुलवामा अटैक पर बुरे घिरे रामगोपाल

लखनऊ
समाजवादी पार्टी के नेता राम गोपाल यादव पुलवामा अटैक को लेकर दिए अपने बयान से विवाद में घिर गए हैं। भाजपा ने एसपी नेता से माफी मांगने को कहा है। राम गोपाल ने  गुरुवार को पुलवामा हमले को साजिश बताया। कुछ देर बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने करारा पलटवार करते हुए कहा कि उनका यह बयान घटिया राजनीति का  भद्दा उदाहरण है।
सीएम योगी ने कहा कि राम गोपाल यादव को अपने इस बयान के लिए सीआरपीएफ जवानों और देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। इससे पहले रामगोपाल यादव ने पुलवामा  हमले पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि पैरामिलिट्री के जवान सरकार से दुखी हैं, वोट के लिए जवान मार दिए गए। बता दें कि इस हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान
शहीद हो गए थे।

शौर्य पर सवाल खड़ा करना शर्मनाक :

योगी आदित्यनाथ ने राम गोपाल के बयान पर जवाब देते हुए कहा कि हमारे बहादुर जवानों ने सदैव आतंकवाद और हर प्रकार के उग्रवाद का डटकर मुकाबला किया और देश की  सुरक्षा को सुनिश्चित किया। जवानों ने एयर स्ट्राइक से पाकिस्तान के बालाकोट में सारे आतंकी कैंपों को नष्ट करके शौर्य और पराक्रम का परिचय दिया। इस शौर्य पर सवाल खड़ा  करना और आतंकियों के पक्ष में सहानुभूति प्रकट करना शर्मनाक है।

अखिलेश सरकार पर योगी आदित्यनाथ ने बोला हमला :

इस दौरान यूपी की पूर्ववर्ती समाजवादी पार्टी की सरकार पर भी योगी जमकर बरसे। उन्होंने कहा, ''यह वही एसपी है, जिसकी सरकार के समय 2012 से 2017 के बीच यूपी में  1000 से भी ज्यादा दंगे हुए और हजारों निर्दोष मारे गए। इस सरकार ने सत्ता में आते ही प्रदेश की विभिन्न आतंकी घटनाओं के मामलों को वापस लेने की भी कोशिश की थी।  वोटबैंक की यह घटिया राजनीति देश को कहां लेकर जाएगी, यह एक बड़ा प्रश्न है।’’ सीएम योगी ने कहा कि राम गोपाल यादव का बयान घटिया राजनीति का भद्दा उदाहरण है, इसके लिए उन्हें देश की जनता और सीआरपीफ के जवानों से माफी मांगनी चाहिए।
इससे पहले एसपी महासचिव राम गोपाल यादव ने कहा था कि पैरामिलिट्री फोर्सेज सरकार से दुखी हैं। वोट के लिए जवान मार दिए गए। जम्मू-श्रीनगर के बीच में चेकिंग नहीं थी।  साधारण बसों से जवानों को भेज दिया गया। यह साजिश थी। अभी नहीं कहना चाहता, जब सरकार बदलेगी तो इसकी जांच होगी और बड़े-बड़े लोग फंसेंगे।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget