'उनकी नजर में लादेन शांतिदूत’

धार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को मध्य प्रदेश के धार में भारतीय जनता पार्टी की विजय संकल्प रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने बिना नाम लिए कांग्रेस नेता  दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि यह महाशय पुलवामा हमले को दुर्घटना बताते हैं। मोदी ने यह भी कहा कि यही लोग ओसामा बिन लादेन को शांतिदूत मानते थे।
गौरतलब है कि कांग्रेस के कई नेता एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकियों और हमले के बारे में जानकारी मांग रहे हैं। दिग्विजय सिंह ने भी सबूत मांगे हैं। इसी को लेकर बिना  दिग्विजय का नाम लिए पीएम मोदी ने कहा कि जिस पार्टी ने सबसे लंबे समय तक देश पर शासन किया, जिस पार्टी के नेताओं ने हमारी पराक्रमी सेना के हाथ बांधकर रखे, उसके नेता अब हमारे वीर जवानों के सामर्थ्य पर सवाल उठा रहे हैं। इसमें भी मध्य प्रदेश के एक नेता बहुत आगे नजर आ रहे हैं। इन महाशय ने पुलवामा हमले को दुर्घटना करार दिया है यानी एक हादसा जो बस हो गया।

यही इनकी मानसिकता है, यही इनकी रगों में बसा है :
मोदी ने आगे कहा कि देशवासी समझ लें कि यह ऐसे ही नहीं बोले हैं, बल्कि यह इनकी मानसिकता है। यही इनकी रगों में बसा हुआ है। आतंकियों को बचाने के लिए उनके हमले  को ये हादसा बता रहे हैं। क्या पुलवामा में जो हुआ वह हादसा था क्या? ये वही नामदार परिवार के वही सिपहसालार हैं, जिनको आतंकी ओसामा बिन लादेन शांतिदूत लगता था।  यही वह महाशय हैं, जिन्होंने मुंबई हमले में भी पाकिस्तान को क्लीन चिट दे दी थी और जांच को भटकाने का काम किया था। दिल्ली के बटला हाउस एनकाउंटर का जिक्र करते हुए  पीएम मोदी ने कहा कि जब बटला हाउस एनकाउंटर हुआ था, तो ऐसे ही एक रागदरबारी ने बताया था कि आतंकी की मौत पर रिमोट से सरकार चलाने वालों के आंसू नहीं रुकते थे।  क्या हम ऐसी कांग्रेस से उम्मीद कर सकते है कि वह आतंक के खिलाफ कार्रवाई करेगी? आज ये लोग सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक पर सवाल कर रहे हैं। इनकी सरकार थी तो ये लोग हर आतंकी हमले के बाद चुप बैठ जाते थे या फिर हमारे वीर जवानों की कार्रवाई पर आंसू बहाते थे।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget