जर्जर पुलों को खुद तोड़ेगी मनपा

मुंबई
मनपा मनपा प्रशासन की सीएसटीएम पुल दुर्घटना के बाद इस कदर होश उड़े है कि जर्जर पुलों को खुद तोड़ने का निर्णय लिया है। ठेकेदार नहीं मिलने पर मनपा अब वार्ड  अधिकारियों को पुल तोड़ने का निर्देश दिया है। बता दें कि मनपा द्वारा 2016 में हुए स्ट्र चरल ऑडिट में 18 पुलों को जर्जर पाया गया था, जिसमें से अब तक मात्र चार को ही तोड़ा  गया है, जबकि तिलकनगर एफओबी, गांधीनगर पुल मलाड और येलोगेट एफओबी मस्जिद बंदर भी तोड़ा जा रहा है। बाकी के 11 पुलों को तोड़ने के लिए मनपा को ठेकेदार नहीं  मिल रहे है। इधर, सीएसटीएम दुर्घटना से मनपा अधिकारियों की आंख खुल गई है। मनपा घोषित जर्जर पुलों को तोड़ने को लेकर अब और समय बर्बाद करने के मूड में नहीं है या  किसी और बड़ी दुर्घटना का इंतजार नहीं करना चाहती है। ऐसे में मनपा ने अपने वार्ड अधिकारियों को पुलों को तत्काल तोड़ने का निर्देश दिया है। सूत्रों के अनुसार पादचारी पुल हो  अथवा रोड ओवर ब्रिज, उन्हें तत्काल तोड़ा जाए। वार्ड अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि रात के समय जब ट्रैफिक की समस्या कम हो, तब पुलों को तोड़ा जाए। मनपा की  आंख तब खुली, जब कुछ दिन पहले मामूली मरम्मत करने वाला ब्रिज गिर गया, जिसमें 6 लोगों की जान चली गई और 32 लोग जख्मी हो गए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget