बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक

मुंबई
निवेशकों की मुनाफा वसूली से सेंसेक्स ने शुक्रवार को आठ लगातार दिन की तेजी खो दी। फिच रेटिंग के देश की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को कम करने के बाद बाजार में यह  गिरावट दर्ज की गई है। विश्लेषकों ने कहा कि नरम वैश्विक संकेतों तथा कमजोर रुपए ने घरेलू शेयर बाजार पर दबाव डाला। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक बढ़त में  खुला, लेकिन बिकवाली के दबाव में 222.14 अंक यानी 0.58 प्रतिशत गिरकर 38,164.61 पर बंद हुआ। इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 64.15 अंक यानी 0.56 प्रतिशत गिरकर  11,456.90 अंक पर आ गया। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 140 अंक और निफ्टी 30 अंक मजबूत हुआ। फिच रेटिंग ने शुक्रवार को अगले वित्त वर्ष के लिए देश की आर्थिक वृद्धि  दर का अनुमान सात प्रतिशत से घटाकर 6.8 प्रतिशत कर दिया है।
सेंसेक्स की कंपनियों में टाटा मोटर्स को सर्वाधिक 2.47 प्रतिशत का नुकसान हुआ। इसके बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 2.44 प्रतिशत, मारुति सुजुकी का शेयर 1.84 प्रतिशत,  भारतीय स्टेट बेंक का शेयर 1.76 प्रतिशत और बजाज फाइनेंस का शेयर 1.23 प्रतिशत गिरा। दूसरी तरफ एनटीपीसी में सर्वाधिक 3.67 प्रतिशत की तेजी रही। इसके अलावा  एलएंडटी, एशियन पेंट्स, टाटा स्टील और पावरग्रिड के शेयर 1.54 प्रतिशत तक चढ़ गए। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि नरम वैश्विक  संकेतों तथा पिछले दो दिन की तेजी के बाद निवेशकों की मुनाफा वसूली से घरेलू बाजार नरम हुए। अमेरिका के केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व द्वारा इस साल दर नहीं बढ़ाने के संकेत  देने, ब्रे€क्जिट में देरी तथा अमेरिका और चीन के बीच व्यापार समझौता लगातार टलने से वैश्विक बाजार में अनिश्चितता का माहौल है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget