सुषमा ने दिखाया कांग्रेस को आईना

नई दिल्ली
दुनिया इस बात से वाकिफ है कि आतंकवादी मौलाना मसूद अजहर को पाकिस्तान ने शरण दे रखी है। कई आतंकी घटनाओं को लेकर वह भारत में वांछित है। अमेरिका, ब्रिटेन और  फ्रांस ने इस खूंखार आतंकवादी को संयु€क्त राष्ट्र के जरिए अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित की कोशिश की, लेकिन चीन ने इसमें अपने वीटो पावर का इस्तेमाल करके अड़ंगा लगा दिया।  देश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक के बाद एक कई ट्वीट करके इस पर बयान जारी किया है। सुषमा ने ट्वीट की अपनी इस सीरीज के जरिए उन लोगों की बोलती बंद करने की  कोशिश की है, जो मोदी सरकार की विदेश नीति पर सवाल उठा रहे हैं। सुषमा ने कहा, ''मैं यह सभी फै€ट इसलिए सामने रख रही हूं, €योंकि कुछ नेताओं का कहना है कि मसूद  अजहर को संयु€क्त राष्ट्र से अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित नहीं करा पाना मोदी सरकार की नाकामी है। जो लोग ये आरोप लगा रहे हैं वो एक बार साल 2009 की स्थिति देख लें, जब भारत ने यूएन में ऐसी ही कोशिश की थी।’’ सुषमा ने बताया कि साल 2009 में भारत अकेला था, जो मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगवाना चाहता था, जबकि 2019 में हमें पूरे विश्व  का साथ मिला है। सुषमा ने कहा कि 2016 में भारत ने यह प्रस्ताव रखा था अमेरिका, फ्रांस व ब्रिटेन इसके सह प्रस्तावक थे। साल 2017 में अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने मसूद  अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव रखा था। सुषमा ने कहा कि साल 2019 के प्रस्ताव में 15 सदस्यीय संयु€क्त राष्ट्र सुरक्षा समिति में से 14 ने इसका समर्थन किया। इसके अलावा भी ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इटली और जापान जैसे देशों ने भी मसूद अजहर को आतंकी घोषित कराने के लिए अपना समर्थन दिया।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget