'अंतरिक्ष स्ट्राइक’ पर सियासी घमासान

राहुल का पीएम पर वार, शाह का पलटवार-'वंशवाद के उत्तराधिकारी’ को सबकुछ ड्रामा लगता है



नई दिल्ली
'मिशन शक्ति’ को लेकर सियासत भी तेज हो गई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जहां इस कामयाबी के लिए वैज्ञानिकों को बधाई दी है, वहीं पीएम मोदी पर तंज कसते हुए उन्हें  'वर्ल्ड थिएटर डे’ की बधाई दी है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राहुल गांधी पर जवाबी हमला बोलते हुए कहा है कि 'वंशवाद के उत्तराधिकारी’ को सब कुछ ड्रामा ही लगता है,  क्योंकि वह पूरे देश को रंगमंच समझते हैं। उन्होंने कहा कि एंटीसैटेलाइट मिसाइल का अंतरिक्ष में सफलतापूर्वक  परीक्षण किया गया, लेकिन ऐसा लगता है कि उससे धरती पर भी  कुछ लोग जख्मी हुए हैं। पीएम मोदी पर राहुल गांधी के तंज वाले ट्वीट के जवाब में अमित शाह ने ट्वीट किया, ''वंशवाद के उत्तराधिकारी इसी तरह बोलते हैं जो सोचते हैं-पूरा देश  ही ड्रामा का स्टेज है। उनके लिए-सैनिकों का बलिदान ड्रामा है, वैज्ञानिकों की कामयाबी भी ड्रामा है। नेता होने का स्वांग रचते हुए 'इस वंश’ ने देश को सिर्फ लूटा है, कमजोर किया  है और बर्बाद किया है।’’
शाह ने एक और ट्वीट में विपक्षी नेताओं पर हमला करते हुए लिखा, ''जिंदगीभर हमारे सैनिकों का अपमान करने वाले विपक्ष के नेता अब हमारे वैज्ञानिकों का उपहास उड़ाना शुरू  कर चुके हैं। शाबाश!’’ भाजपा अध्यक्ष ने पूर्ववर्ती यूपीए सरकार पर हमला करते हुए कहा कि हमारे वैज्ञानिकों के पास तो हमेशा से टैलेंट और क्षमता थी, लेकिन यूपीए के पास अपनी संस्थाओं को समर्थन देने का साहस नहीं था। उन्होंने लिखा, ''सच्चाई यह है कि हमारे कुशल वैज्ञानिकों के पास हमेशा से प्रतिभा और क्षमता थी, जरूरत तो इस बात की थी  कि सरकार आगे बढ़े। यूपीए के पास यह साहस ही नहीं था कि वह अपने संस्थानों और लोगों का साथ दे सके, पीएम मोदी के नेतृत्व में एनडीए ने यह करने की इच्छाशक्ति दिखाई  है।’’
'मिशन शक्ति’ की कामयाबी के बाद समूचा विपक्ष मोदी पर हमला बोलने लगा। ममता बनर्जी ने कहा कि यह एक राजनीतिक घोषणा है, इसे वैज्ञानिकों द्वारा बताया जाना चाहिए  था, यह उनका क्रेडिट है। सिर्फ एक सैटेलाइट नष्ट किया गया, इसकी कोई जरूरत नहीं थी। सैटेलाइट लंबे समय से पड़ा था। यह वैज्ञानिकों का विशेषाधिकार है कि यह कब करना  है। हम इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करेंगे।

चुनाव आयोग ने मांगी पीएम के भाषण की कॉपी :
प्रधानमंत्री द्वारा मिशन शक्ति को लेकर इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से संदेश देने का मामला चुनाव आयोग के संज्ञान में लाया गया है। आचार संहिता उल्लंघन के आरोपों पर आयोग ने  अधिकारियों की कमेटी को तुरंत मामले की जांच रिपोर्ट देने को कहा है। इस संबंध में पीएम मोदी के संबोधन की कॉपी मांगी गई है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget