पूर्वांचल में मौसम का बदला मिजाज आकाशीय बिजली से दो की मौत

वाराणसी
रविवार की सुबह अचानक मौसम ने एक बार फिर से करवट ले लिया। इस दौरान आसमान में बादल घिर आए और बारिश शुरू हो गई। कुछ स्थानों पर ओले भी गिरे। हवाओं के  साथ हुई बारिश से एक बार फिर ठंड महसूस की गई। रविवार की सुबह हालांकि मौसम साफ था। जैसेजैसे दिन चढ़ा बादलों ने घेरना शुरू कर दिया। नौ बजते ही हवा के साथ बारिश  शुरू हो गई। जिन जगहों पर बारिश नहीं हुई वहां बादलों ने आसमान पर कब्जा जमाया और ठंडी हवाएं भी चलीं। वहीं कई क्षेत्रों में जोरदार बरसात भी दोपहर होते होते दर्ज की गई,  जिससे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। दिन में भी अंधेरा छाया रहा और तेज हवाओं से तैयार दलहन तिलहन की फसल खेतों में लोट गई।
सोनभद्र जिले में सर्वाधिक बारिश इस दौरान दर्ज की गई। इसके बाद कई अन्य इलाकों में भी बूंदाबांदी शुरु हुई, जो काफी देर तक जारी रही। मौसम में ठंड घुलने के साथ ही कृषि  विज्ञानी फसलों को काफी क्षति होने की आशंका जता रहे हैं। मौसम विज्ञानियों के अनुसार छिटपुट बारिश का दौर बना हुआ है ऐसा पहाडों पर बर्फबारी होने की वजह से हो रहा है।  हालांकि पखवारे भर बाद स्थितियों में सुधार होगा और मौसम का रुख गर्मी की ओर होगा।
मिर्जापुर में हलिया थाना क्षेत्र के बरी गांव में कई लोग सरसों की फसल काटने गए थे कि तभी अचानक बारिश शुरू हो गई। सभी लोग एक पेड के नीचे बैठ गए कि उसी समय  आकाशीय बिजली गिरी जिसने पेड के नीचे बैठे लोगों को अपने चपेट में ले लिया, जिसमें दो युवकों की मौत हो गई, वहीं लगभग दर्जन भर लोग घायल हो गए। घायलों को  अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बरी गांव निवासी मृतक अनिल कुमार (23) व आशीष कुमार (18) तथा घायल गंगाजली, जयशंकर, इंद्रबहादुर, सुनीता, छल्लर, अमरजीत, पुष्पा,  विजय, रामसजीवन सभी लोग अपने अपने सरसों के फसल को काटने के लिए गए थे कि उसी समय बारिश शुरू हो गई। सभी लोग एक पेड के नीचे जाकर बैठ गए कि आकाशीय  बिजली गिरने की चपेट में आकर घायल हो गए। सभी घायलों को उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां से इंद्रबहादुर, गंगाजली और अमरजीत की हालत गंभीर  होता देख जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget