यह अंतरिक्ष महाशक्ति बनने की मुनादी है

प्राय: कहा जाता है कि यदि किसी देश या व्यक्ति में इच्छाशक्ति हो, तो वह बड़ा से बड़ा कार्य संपादित कर सकता है। बड़ी से बड़ी ऊंचाई हासिल कर सकता है। आज हमारे देश के  बारे में यह बात अक्षरश: सही है। मिशन शक्ति की ऐतिहासिक सफलता ने हमें अंतरिक्ष की भी महाशक्ति बना दिया है और जिस तरह आज विश्व की प्रतिक्रिया सामने आ रही है,  यह साबित करती है हमने कितनी बड़ी सफलता हासिल की है। यह ताकत हमारे पास बहुत पहले से थी, परंतु यूपीए ने वह इच्छाशक्ति नहीं दिखाई, परंतु प्रधानमंत्री मोदी ने हर  निर्णय की तरह इसमें भी देरी नहीं की और आज उसका परिणाम सबके सामने है। एक पाकिस्तान को छोड़ दें, तो पूरी दुनिया हमारी वाहवाही कर रही है। यहां तक कि चीन जैसे  हमारे पाक के बाद दूसरे अशुभ चिंतक की भी प्रतिक्रिया काफी सावधानी पूर्वक दी गई प्रतिक्रया लगती है। अब देश की प्रगति पर भी विपक्ष के पेट में दर्द उठे, यह तो अच्छी बात  नहीं है। यह देश की बड़ी वैज्ञानिक उपलब्धि है। कांग्रेस बार-बार यह कहती है कि यह तो हमने शुरू किया था। इसकी तकनीकी हमारे ही कार्यकाल में विकसित हो गई थी। अच्छी  बात है, परंतु असली बात यह है कि तब आपने परीक्षण करने की हिम्मत €यों नहीं दिखाइ।
जिसने उसे अंजाम तक पहुंचाया, वही श्रेय का हकदार भी है। ऐसी उपलब्धियां देश का मान बढ़ाती हैं और हर देशवासी का सीना गर्व से ऊंचा करती हैं। ऐसे कई काम हुए हैं, जिसे कांग्रेस कहती है हमने शुरू किए हैं, परंतु उसे अंजाम तक पहुंचाने में वह कामयाब नहीं रही, तो जो अंजाम तक पहुंचाएगा उसे ही श्रेय मिलना स्वाभाविक है। कांग्रेस ने बहुत काम  किया है। यह दावा करते हुए उसे यह भी मानना पड़ेगा कि जो नाम कीर्ति और यश देश को मोदी युग में मिला और जो काम किए गए उसकी धमक आज जैसी दुनिया में है, वैसी  कांग्रेस के काल में कभी नहीं थी और यही कारण है कि आज कांग्रेस देश में अब तक के अपने इतिहास के सबसे कमजोर दौर से गुजर रही है। आतंकवाद और अलगाववाद की समस्या से निपटने की बात हो या पाकिस्तान से निपटने की बात हो या भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग हो या कोई और बात, ये समस्याएं लंबे समय से हैं, परंतु इनमें आज जो बदलाव दिख रहा है, आज जिस आक्रामकता के साथ हम इनका मुकबला कर रहे हैं, वैसा हमने अतीत में कभी नहीं किया।
कांग्रेस कभी भी देख लेंगे मिटा देंगे के जबानी खर्च से आगे नहीं गई। इसलिए पाकिस्तान का मनोबल बढ़ता गया और एक के बाद एक हैरतंगेज आतंकवादी हमले होते रहे। आज  हमने दौड़ाकर उन्हें मारना शुरू किया है। अलगाववादियों और पाक परस्तों पर लगाम लगानी शुरू की है, तो उसका श्रेय उसी को न मिलेगा कि कांग्रेस या विपक्ष को मिलेगा। इसलिए  विपक्ष को देश की वैज्ञानिक प्रगति पर आतंकियों को ठिकाने लगाने पर, पाकिस्तान को उसकी औकात दिखाने पर, मीन मेख निकालना बंद करना चाहिए। चुनावी लड़ाई विचारधारा  पर हो, देश के विकास के मुद्दों पर हो, ऐसे मुद्दों पर न हो, जो देश की सामरिक शक्ति का इजाफा कर रहे है या देश के दुश्मनों का सीना छलनी कर रहे है या उनके अंदर ऐसा भय पैदा कर रही है, जिससे वे हमारे खिलाफ प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से कुछ गलत करने की हिमाकत न कर सकें। मिशन शक्तिहमारी अंतरिक्ष की महाशक्ति बनने की मुनादी है और हमें इसे उसी तरह लेना चाहिए यह हर भारतीय के लिए गर्व की बात है। कम से कम इस पर विपक्ष को छीटाकसी नहीं करनी चाहिए।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget