महाराष्ट्र में सपा-बसपा गठबंधन!

मुंबई
वर्ष 2019 लोकसभा चुनाव में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की सत्ता रोकने के लिए उत्तर प्रदेश में बने बसपा और सपा का गठबंधन अब महाराष्ट्र तक पहुंच गया है। यूपी के बाद  अब दोनों पार्टियां महाराष्ट्र में मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेंगी, जिसकी औपचारिक घोषणा आज हो सकती है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद अशोक सिद्धार्थ मंगलवार को एकदिवसीय मुंबई दौरे पर है और महाराष्ट्र समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और विधायक अबू आसिम आजमी के साथ संयुक्त प्रेस  कांफ्रेंस को सांझा करेंगे, जिसमें महाराष्ट्र में बसपा और सपा के गठबंधन के साथ-साथ चुनाव लड़ने की घोषणा कर सकते है।
बता दें कि बीते 2014 के लोकसभा और 2017 के उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के बाद यूपी सहित पूरे देश में बसपा का जनाधार लगातार गिरता जा रहा है। 2014 के  लोकसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं, तो विधानसभा चुनाव में यूपी के 403 विधानसभा सीटों में से केवल 9 सीट पर बसपा ने जीत हासिल की थी। इसी को ध्यान में रखकर पार्टी  के गिरते जनाधार को बढ़ाने के लिए बसपा प्रमुख मायावती ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करने का निर्णय लिया। 80 लोकसभा  सीटों वाले उत्तर प्रदेश में 50-50 के फार्मूले के बाद अब दोनों पार्टियां मिलकर महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव लड़ सकती है।
महाराष्ट्र में सपा-बसपा गठबंधन की गांठ बंध जाती है, तो सबसे ज्यादा नुकसान कांग्रेस-राकांपा आघाड़ी को होने की बात कही जा रही है। सपा-बसपा के आक्रमक रुख देखते हुए  माना जा रहा है कि ये दोनों दल कांग्रेस के पैंतरेबाजी को पसंद नहीं कर रहे हैं। यूपी में कांग्रेस द्वारा जोरशोर से चुनाव प्रचार किए जाने से सपा-बसपा गठबंधन को लग रहा है कि उसे दलित और मुस्लिम मतों का नुकसान होगा, जिसका फायदा भाजपा को मिल सकता है। यही कारण है कि माया और अखिलेश ने महाराष्ट्र में गठबंधन करने की रणनीति बनाई  है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget