पटना में बनेंगे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट

पटना
नमामि गंगे परियोजना के तहत पटना और आसपास के इलाकों में सीवरेज प्लांटों पर 2703.44 करोड़ रुपए खर्च होंगे। केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण, सड़क  परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी ने छपरा से पटना की कई परियोजनाओं का रिमोट से शिलान्यास किया। इनमें 824 करोड़ की लागत वाला दीघा का सीवरेज एंड ट्रीटमेंट  प्लांट (एसटीपी) भी शामिल है। इससे दीघा में 288 किमी सीवरेज नेटवर्क को जोड़ा जाएगा। इसकी क्षमता 100 एमएलडी प्रतिदिन गंदे पानी की सफाई की होगी। कंकड़बाग एसटीपी  और सीवरेज नेटवर्क का भी शिलान्यास किया गया है। इसकी क्षमता 50 एमएलडी प्रतिदिन है। इसी तरह से दानापुर में एसटीपी की क्षमता 25 एमएलडी प्रतिदिन होगी। इस नेटवर्क  से ढके हुए नाले से गंदे जल को एसटीपी तक लाया जाएगा। इससे शहर से जल निकासी की सुविधा बहाल हो जाएगी और जलजमाव से मुक्ति मिलेगी।
नमामि गंगे परियोजना के तहत 53.81 करोड़ की मोकामा, 578 करोड़ की कंकड़बाग एसटीपी योजना, 35.48 करोड़ की फतुहा एसटीपी योजना, 35.88 करोड़ की बख्तियारपुर  एसटीपी, 41 करोड़ की मनेर एसटीपी, 103.27 करोड़ की दानापुर एसटीपी, 40 करोड़ की फुलवारीशरीफ एसटीपी योजना का शिलान्यास किया गया। इसके अलावा 230 करोड़ की  बेगूसराय व 254 करोड़ भागलपुर एसटीपी योजना का भी शिलान्यास किया गया। फतुहा एसटीपी प्लांट औद्योगिक क्षेत्र में बनेगा। इसके लिए जगह भी चयनित कर ली गई है। इसके बन जाने से सीवरेज का पानी साफ कर सिंचाई के लिए दिया जाएगा। वहीं, बख्तियारपुर में निर्मित होने वाले प्लांट से गंदे पानी को ट्रीटमेंट कर गंगा नदी में गिराया जाएगा।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget