IPL : चौथे खिताब पर चेन्नई की नजर

नई दिल्ली
आईपीएल लीग की सबसे सफल टीम की बात करें, तो बिना कोई शक चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) की टीम यहां नजर आती है। अब तक 11 सीजन में से इस टीम ने कुल नौ  सीजन खेले हैं। इसके बावजूद आईपीएल में सबसे ज्यादा (तीन बार) खिताब जीतने का रिकॉर्ड एमएस धोनी की कप्तानी वाली इस टीम के ही नाम हैं। इतना ही नहीं इस टीम ने ही  इस लीग में सबसे ज्यादा बार (रिकॉर्ड सात बार) फाइनल में एंट्री की है।

2018 में सबको गलत साबित कर चैंपियन बनी सीएसके


पिछले साल जब सीएसके की टीम ने दो साल के बैन के बाद दोबारा इस लीग में एंट्री की, तो जानकार उनकी टीम को खिताब का दावेदार नहीं मान रहे थे। जानकारों के मुताबिक  धोनी की टीम में उम्रदराज खिलाड़ी ज्यादा थे और टी-20 क्रिकेट सरीखे फास्ट गेम में उम्रदराज (सीनियर) खिलाड़ियों पर कम ही दांव लगाया जाता है। लेकिन अनहोनी को होनी करने  में माहिर धोनी ने यहां भी सबको हैरान कर दिया और अपनी टीम को तीसरी बार इस लीग का चैंपियन बना डाला।

इस बार भी पिछले साल जैसी है धोनी की टीम

धोनी की टीम का स्वरूप इस बार भी करीब-करीब पिछले साल जैसा ही है, लेकिन इस बार पूरी उम्मीद है कि टूर्नामेंट की बाकी टीमें इस डिफेंडिंग चैंपियन को हल्के में लेने की भूल
नहीं करेंगी। भले ही इस टीम में ज्यादातर खिलाड़ी उम्र में 30+ हैं, लेकिन सभी अपने दौर के दिग्गज खिलाड़ी रहे हैं और वह हालात के मुताबिक बेहतर ढंग से खेलना जानते हैं।  इसके अलावा टीम में कुछ युवाओं को भी जगह दी गई है। कप्तान धोनी अनुभव और युवा जोश का सही से मिश्रण करना बखूबी जानते हैं और वह इस मिश्रण को बैटिंग बोलिंग  समेत सबसे जरूरी फील्डिंग में भी जमकर भुनाएंगे।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget