कांग्रेस का घोषणा पत्र भ्रामक : माधव भंडारी

मुंबई
भाजपा प्रदेश के मुक्य प्रवक्ता माधव भंडारी ने कांग्रेस के घोषणा पत्र को जनता को भ्रमित करने वाला बताया और कहा कि घोषणा पत्र को लेकर कांग्रेस पार्टी गंभीर नहीं है। बुधवार  को भाजपा प्रदेश कार्यालय में पत्रकार परिषद के दौरान भंडारी ने कहा कि 2009 के चुनाव में अपने घोषणा पत्र में कहा था कि सरकार बनने के बाद एक वर्ष के भीतर देश में जीएसटी लागू किया जाएगा, लेकिन जीतने के बाद नहीं किया।
2017 में जब हमारी सरकार ने इसे लागू किया तो कांग्रेस ने इसे गब्बर टैक्स बताया। माधव भंडारी ने कहा कि 2009 की तरह कांग्रेस पार्टी ने 2019 के चुनाव में अपने घोषणा पत्र  में सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है कि हमारी सरकार आएगी तो पेट्रोल-डीजल को जीएसटी में लाया जाएगा। वहीं कांग्रेस शासित राज्यों वाली सरकार इसका जमकर विरोध कर रही  है। माधव भंडारी कांग्रेस के घोषणा पत्र को जनता को गुमराह करने वाला बताते हुए कहा कि 2014 लोकसभा चुनाव के बाद नरेंद्र मोदी की सरकार ने सौभाग्य योजना के तहत हर  घर में बिजली पहुंचाने और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत सभी गांवों को जोड़ने का काम किया, जबकि 2004 से 2009 के बीच आघाडी सरकार ने जनता को आश्वासन  दिया था, लेकिन सिर्फ लोगों का दिशाभूल करने का काम किया। कांग्रेस ने घोषणा पत्र में आश्वासन दिया है कि यूपीए की सरकार बनने के बाद रेल की तर्ज पर कृषि बजट अलग  से पेश किया जाएगा। उस पर तंज कसते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि तत्कालीन कर्नाटक में भाजपा सरकार ने विधानसभा में किसानों के लिए अलग बजट पेश करने का  प्रावधान शुरू किया था, लेकिन कांग्रेस और जेडीएस की सरकार आने के बाद उस प्रावधान को बंद कर दिया गया है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget