राहुल को वामपंथियों ने घेरा

वायनाड
कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने केरल के वायनाड लोकसभा सीट से पर्चा दाखिल करने के बाद गुरुवार को कहा कि वह अपने पूरे चुनाव प्रचार अभियान के दौरान  सीपीएम के खिलाफ एक भी शब्द नहीं बोलेंगे। राहुल गांधी का यह बयान ऐसे समय पर आया है, जब कई हलकों में उनके इस फैसले को विपक्षी एकता के खिलाफ बताया जा रहा  था। केरल के वामपंथी दलों ने राहुल गांधी पर हमले बोलने शुरू कर दिए थे। राहुल ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि मैं समझ सकता हूं कि सीपीएम के मेरे भाई और  बहन मेरे खिलाफ बोलेंगे और मुझ पर हमला करेंगे, लेकिन अपने पूरे चुनाव प्रचार अभियान के दौरान उनके खिलाफ एक भी शब्द नहीं बोलूंगा। राहुल गांधी का यह बयान ऐसे  समय पर आया है, जब वायनाड से चुनाव लड़ने के उनके ऐलान के बाद दोनों दलों के बीच रिश्तों में खटास आ गई है। अब राहुल ने यह बयान देकर संदेश देने की कोशिश की है  कि उन्होंने अभी भी अपने दरवाजे सीपीएम के लिए खोल रखे हैं।
बता दें कि राहुल की उम्मीदवारी के चलते लेफ्ट के भीतर खींचतान मच गई और इसमें सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी अकेले पड़ते दिख रहे हैं। राहुल गांधी के लिए 'नरम रुख’  अख्तियार करने के चलते सीताराम येचुरी पार्टी के अंदर अकेले नजर आ रहे हैं। येचुरी का कहना है कि लेफ्ट को इलेक्शन के वक्त किसी तरह के विवाद में पड़ने के बजाय समान विचारधारा वाले दलों से तालमेल करना चाहिए। उनका कहना है कि भाजपा को हराना ही फिलहाल एकमात्र लक्ष्य होना चाहिए। इसके लिए उन्होंने पश्चिम बंगाल में कांग्रेस संग  गठबंधन की कोशिशें की थीं और केरल में नरम दिख रहे हैं। इसके चलते वह पार्टी के मुखिया के तौर पर सीपीएम में अकेले पड़ गए हैं।
मैं वायनाड में मिले प्रेम से अभिभूत हूं : राहुल
राहुल गांधी ने केरल की वायनाड लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल करने के बाद कहा कि वह इस क्षेत्र के लोगों से मिले प्रेम से अभिभूत हैं। गांधी ने अपने रोड शो के दौरान हुई  एक दुर्घटना का हवाला देते हुए कहा कि मैं उन पत्रकारों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं जो हमारे रोडशो के दौरान हुई दुर्घटना में घायल हो गए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget