अगर हैं माइग्रेन से पीड़ित तो खाने में इन चीजों से बचे

माइग्रेन के दर्द और सिर के दर्द में अंतर होता है। माइग्रेन का दर्द सिर के दाएं हिस्से में या बाएं हिस्से में होता है। आधे सिर का दर्द जब भी किसी को होता है तो उसकी हालत  खराब हो जाती है। माइग्रेन एक गंभीर बीमारी है, जो आसानी से ठीक नहीं होती है। इसके बावजूद भी लोग इसे हल्के में ले लेते हैं। खानपान पर सही ध्यान न देना माइग्रेन की  समस्या का सबसे बड़ा कारण होता है। खानपान को लेकर सही जानकारी न होने के कारण हम कुछ भी खा लेते हैं। इसके बाद माइग्रेन की समस्या होने लगती है। माइग्रेन के दर्द से  बचने के लिए खाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

इन पदार्थों को खाने से बचें

  • आईसक्रीम और अन्य ठंडे खाद्य पदार्थों को खाने से भी माइग्रेन का दर्द हो सकता है। अगर आपने एक्सरसाइज के तुरंत बाद या किसी गर्म खाद्य पदार्थ को खाने के बाद ठंडी चीजें  खाई तो माइग्रेन की समस्या काफी बढ़ सकती है।
  • चॉकलेट जैसी स्वादिष्ट चीजें खाना तो सभी को पसंद होता है, लेकिन माइग्रेन से परेशान लोगों के लिए यह खतरनाक साबित हो सकती है। चॉकलेट में कैफीन और बीटाफेनीलेथाइलामीन नामक तत्व होता है। इसके कारण ब्लड सेल्स में खिंचाव पैदा करता है। इसके बाद दर्द का अहसास होता है।
  • माइग्रेन के दर्द को बढ़ाने में पनीर की जिम्मेदार होता है। वहीं, सूखा मेवे से माइग्रेन की समस्या होती है। सूखे मेवे में सल्फाइट्स नाम का केमिकल होता है। इसके अलावा केला  और संतरा जैसे खट्टे फलों से माइग्रेन का दर्द बढ़ता है।
  • अधिक नमक या अधिक नमक वाले खाने से माइग्रेन की समस्या बढ़ती है। वहीं अचार और मिर्ची से भी माइग्रेन का दर्द होता है। इसके अलावा पिज्जा जैसे फास्ट फूड भी माइग्रेन  के लिए हानिकारक हैं।
  • हम सभी का मानना होता है कि चाय या कॉफी पीने से सिरदर्द में आराम मिलता है। वहीं जो लोग नियमित रूप से कॉफी पीते हैं, उन्हें नहीं पता होता है कि वह माइग्रेन की बीमारी  को बुलावा दे रहे हैं। बता दें कि कॉफी में काफी मात्रा में कैफीन पाया जाता है, जो दिमाग की नसों के काम में रुकावट डालता है। इस कारण से ब्लड सर्कुलेशन धीरे हो जाता है।  इसके बाद माइग्रेन का दर्द शुरू हो जाता है।
  • अक्सर शराब पीने के बाद लोगों को हैंगओवर होता है और उनके सिर में तेज दर्द होता है। एल्कोहल पदार्थ पीने के बाद माइग्रेन की समस्या होती है। डिहाईड्रेशन के कारण माइग्रेन  के दर्द की समस्या हो जाती है।
  • माइग्रेन दर्द का कारण माइग्रेन दर्द बल्ड सेल्स के बड़े होने और नर्व फाइबर्स की ओर से केमिकल के बहने के कारण उत्तरदायी होता है। दर्द के समय सिर बिल्कुल नीचे वाली सेल बड़ी हो जाती है। जिसके  कारण एक केमिकल बहने लगता है। यह जलन, दर्द और बल्ड सेल्स को और चौड़ा करने का काम करता है।

माइग्रेन के ये भी लक्षण

  • फ्लाइंड स्पॉट
  • हाथ पैर में झुनझुनी
  • उल्टी
  • रोशनी और आवाज से संवेदनशीलता का बढ़ना

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget