उत्तर-पूर्व मुंबई से मनोज कोटक उम्मीदवार

मुंबई
उत्तर-पूर्व मुंबई लोकसभा सीट के लिए आखिरकार महायुति ने अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है। मौजूदा सांसद किरीट सौमैया का टिकट काटकर भाजपा ने नगरसेवक मनोज  कोटक को उम्मीदवार बनाया है। महीने से ज्यादा वक्त से उम्मीदवारी की चल रही अटकलों पर भाजपा ने मनोज कोटक की घोषणा करके विराम लगा दिया है।
अब उत्तर-पूर्व मुंबई लोकसभा सीट पर कांग्रेस-राकांपा के उम्मीदवार संजय पाटिल का किरीट सौमैया से नहीं, बल्कि महायुति के उम्मीदवार मनोज कोटक से मुकाबला होगा। 2019  लोकसभा चुनाव को लेकर जहां कांग्रेस-राकांपा ने पहले ही संजय पाटिल को उम्मीदवार घोषित कर दिया था, वहीं भाजपा मौजूदा सांसद किरीट सौमैया को उम्मीदवार बनाना चाहती  थी, लेकिन शिवसेना के दबाव में घोषणा नहीं कर पा रही थी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भाजपा ने शिवसेना के दबाव में किरीट का टिकट कांटा है। क्योंकि इसके पहले ही  भाजपा ने कोटक को चुनाव लड़ने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया था। उसी वक्त से माना जाने लगा था कि किरीट सौमैया का टिकट काटकर भाजपा मनोज कोटक को उम्मीदवार बनाएगी।
बता दें कि 2017 के मुंबई मनपा चुनाव में सांसद किरीट सौमैया ने शिवसेना के साथ-साथ शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे पर व्यक्तिगत हमला बोला था, जिससे नाराज शिवसेना  और कार्यकर्ताओं ने किरीट सौमैया को उम्मीदवारी न देने की बात की थी। वर्ष 2019 लोकसभा चुनाव के लिए जब भाजपा और शिवसेना की युति की घोषणा हुई थी। उसी वक्त से  आशंका जताई जाने लगी थी कि सौमैया का टिकट कट सकता है। एक तरह जहां किरीट सौमैया के उम्मीदवारी को लेकर शिवसेना खिलाफ थी, वहीं भाजपा नेताओं ने सोमैया के  लिए उद्धव को मनाने की काफी कोशिश की, लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया। पिछले दिनों वर्षा बंगले पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से हुई उद्धव ठाकरे की मुलाकात में ठाकरे ने साफ कह दिया कि शिवसैनिक सोमैया को माफ करने को तैयार नहीं हैं। साथ ही, राहुल शेवाले और सुनील राउत ने खुलेआम सोमैया के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। राउत ने तो सोमैया  को उम्मीदवारी मिलने पर उनके खिलाफ चुनाव लड़ने तक की घोषणा कर दी थी।
मुलुंड से नगरसेवक और मनपा में भाजपा गट नेता मनोज कोटक मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस के काफी करीबी माने जाते है। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री ने कोटक को दो-दो बार  विधानपरिषद सदस्य बनाने का प्रयास किया था, लेकिन उसमें कोटक को सफलता नहीं मिली। कोटक 2014 में भांडुप विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ चुके हैं। माना जा रहा है कि  कोटक को शिवसेना का पूरा समर्थन मिलेगा।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget