कनाडा ने किया भारतीयों का स्वागत

नई दिल्ली
अमेरिका ने जहां अपने यहां आने वालों के लिए वीजा के नियमों को सक्त किया है, वहीं कनाडा दिल खोलकर भारतीय टैलंट को अपने यहां मौका देने की तैयारी कर रहा है। कनाडा  ग्लोबल टैलंट स्ट्रीम नामक एक स्थाई प्रोग्राम शुरू करने जा रहा है, जिसके जरिए लोगों को बड़ी आसानी से वहां काम करने का मौका मिल सकेगा। कनाडा की इस योजना से कनाडा  में काम करने के इच्छुक विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजिनियरिंग या गणित बैंकग्राउंड वाले लोगों को भारी फायदा होगा। यही नहीं, अमेरिका में रहने वाले भारतीय भी इसका फायदा उठा  सकते हैं। इस योजना के तहत नौकरी देने वाले नियोक्ताओं द्वारा दाखिल आवेदनों को महज दो सप्ताह में निबटाया जाएगा। इसका अतिरिब्त फायदा यह मिलेगा कि जिन लोगों को  जीटीएस योजना के तहत नौकरियां मिलेंगी वे न सिर्फ कनाडा में वर्क एम्सपीरियंस लेंगे, बल्कि उन्हें एम्सप्रेस इंट्री रूट के तहत स्थाई नागरिकता हासिल करने में प्राथमिकता भी  मिलेगी। एम्सप्रेस इंट्री रूट एक पॉइंट-बेस्ड सिस्टम है। एक खबर के मुताबिक, पिछले साल 15 जून के अपने अंक में इस बात की जानकारी दी थी कि एम्सप्रेस इंट्री रूट के तहत  सबसे ज्यादा भारतीयों को स्थाई नागरिकता मिलेगी। साल 2017 के दौरान कुल 86,022 इनविटेशंस भेजे गए और इनमें से लगभग 42 फीसदी (36,310) वैसे लोग थे, जिनके पास  भारतीय नागरिकता थी। टीओआई को कनाडा के डिपार्टमेंट ऑफ इमिग्रेशन, रिफ्युजी ऐंड सिटिजनशिप द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक, साल 2018 के दौरान भारतीयों  को 41,000 इन्वाइट्स भेजे गए, जो 13 फीसदी की बढ़ोतरी दर्शाता है। कनाडा के इमिग्रेशन, रिफ्युजी और सिटिजनशिप मंत्री अहमद हुसैन ने हाल में जारी बजट डॉक्युमेंट में कहा कि हम अपने ग्लोबल स्कील्स स्ट्रैटिजी के जरिए दुनियाभर के बेहद उच्च कौशल रखने वाले लोगों को आकर्षित कर रहे हैं।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget