पाकिस्तान की भाषा बोल रहे मिलावटी नेता : मोदी

जमुई
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के जमुई में हुई सभा में विरोधियों पर जमकर निशाना साधा। खासकर उन्होंने उमर अब्दुल्ला के बयान को आड़े हाथों लिया और इसके बहाने राजद व कांग्रेस पर तंज कसा। पीएम मोदी ने कहा कि महामिलावटी नेताओं को यह बताना चाहिए कि उन्हें सेना के सपूतों पर भरोसा है या पाकिस्तान के कपूतों पर। उमर अब्दुल्ला के इस  बयान से पूरा देश स्तब्ध है कि जम्मू- कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री चाहिए। इस पर पूरा विपक्ष चुप्पी साधे है और राजद कांग्रेस सहित कोई विरोध नहीं कर रहा है। उन्होंने  महागठबंधन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि महामिलावटी नेता आज चौकीदार से परेशान हैं। उसे गाली दे रहे हैं। उन्होंने गया में माउंटेन मैन दशरथ मांझी को भी याद किया। उन्होंने  गया के गांधी मैदान में कहा कि देश में पहले आए दिन बम धमाके होते रहते थे। कभी अहमदाबाद में, तो कभी हैदराबाद में। लोग सहमे रहते थे, लेकिन मोदी के आते ही ऐसी  विध्वंसक ताकतें कहां चली गईं। कुर्सी तंत्र के लिए मिलावटी लोग ऐसे आतंकवादियों को छोड़ देते थे। अब कांग्रेस सहित महामिलावटी नेता हिंदू आतंकवाद का फर्जी खेल खेल रहे हैं। विरोधियों को हमारी चौकीदारी से दिक्कत हुई, तो महामिलावटी लोग चौकीदार को तरह-तरह की गाली दे रहे हैं, लेकिन पूरी दुनिया चौकीदार के कामों को सराह रहे हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि जब-जब देश की सबसे पुरानी पार्टी और उसके सहयोगी सत्ता में आते हैं, तब-तब शासन उल्टी दिशा में चलने लगता है। उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके  प्रतिद्वंद्वी यह झूठ फैला रहे हैं कि यदि भाजपा सत्ता में फिर से आ गई तो पिछड़े वर्गों का आरक्षण खत्म कर देगी। मोदी ने कहा, ''कांग्रेस जब सत्ता में होती है, तो आतंकवाद,  महंगाई, हिंसा, भ्रष्टाचार, काला धन बढ़ जाता है, जबकि देश की समृद्धि, इसकी विश्वसनीयता, सशस्त्र बलों का मनोबल और ईमानदारी के प्रति आदर घट जाता है।’’
उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि उसने भारतीय संविधान के निर्माण में अहम भूमिका निभाने वाले डॉ. आंबेडकर को ''हराने’’ के लिए सारे जतन किए थे। पीएम मोदी ने कहा कि  बाबा साहेब का जितना अपमान कांग्रेस ने किया है, उतना किसी और दल ने नहीं। कांग्रेस ने बाबा साहेब के साथ जो किया था, उसके बाद मैं ये मानता हूं कि जो भी बाबा साहेब को  पूजनीय मानते हैं, वो कभी भी कांग्रेस का साथ नहीं दे सकते हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ''भारत के इतिहास में पहली बार आतंकियों के घर में घुसकर उनको सबक सिखाया गया है। पूरी दुनिया आतंक पर हमारे प्रहार की चर्चा कर रही है,  लेकिन महामिलावटी कहते हैं मोदी सबूत दो। मैं देशवासियों से आग्रह करूंगा कि राष्ट्रीय सुरक्षा पर, कश्मीर पर, हमारे वीर जवानों पर, हमारे सुरक्षा बलों पर जो ये बयान दे रहे हैं,  भांति-भांति के वादे कर रहे हैं, उसे बहुत ध्यान से सुनें समझें और उनका हिसाब इस चुनाव में चुकता करना चाहिए। जो भी भारत को आंखें दिखाएगा, उससे नरमी से नहीं निपटा  जाएगा, इसमें किसी को कोई शक नहीं होना चाहिए। चाहे वो नक्सलियों को वैचारिक संरक्षण देने वाले लोग हों या फिर शरण देने वाले।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget