मायावती पर राजनाथ सिंह ने साधा निशाना

नई दिल्ली
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बीएसपी चीफ मायावती के मुस्लिमों से वोट नहीं बंटने देने की अपील करने वाले बयान पर जमकर निशाना साधा है। गृह मंत्री ने मायावती को घेरते हुए कहा कि हिंदू-मुसलमान के आधार पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। लोकतंत्र में इस तरह के बयान को स्वीकार नहीं किया जा सकता है। राजनाथ ने एक समाचार एजेंसी को दिए  इंटरव्यू में कहा कि जाति, संप्रदाय और धर्म के आधार पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। गृह मंत्री ने साथ ही मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग की  छापेमारी में राजनीतिक मंशा होने से इंकार करते हुए कहा कि एजेंसियां इनपुट्स के आधार कार्रवाई करती हैं।
मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग के छापों पर गृह मंत्री ने कहा कि इसके पीछे कोई राजनीतिक मंशा नहीं है। एजेंसियां इनपुट्स के आधार पर  कार्रवाई करती हैं। विपक्षी नेताओं पर रेड के सवाल पर राजनाथ ने कहा कि सरकार पर आरोप लगाना गलत है। उन्होंने कहा कि यह तो सालों से हो रहा है, आज शुरू नहीं हुआ है।  यह कहना सही नहीं होगा कि यह किसी के इशारे पर किया जा रहा है। चुनाव आयोग फोर्स की मांग करती है और हम उसे उपलब्ध कराते हैं। सुरक्षाबलों की तैनाती आयोग के कहने  पर होती है, केंद्र के कहने पर नहीं होती है। एमपी में केंद्रीय सुरक्षाबलों और राज्य पुलिस के बीच नोकझोंक के सवाल पर गृह मंत्री ने कहा कि इसका केंद्र सरकार से कोई लेना-देना  नहीं है। उन्होंने कहा कि हम इसके लिए जिम्मेदार नहीं हैं। चुनाव आयोग मामले को देखेगा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा भाजपा के घोषणा पत्र पर ट्वीट के सवाल पर  राजनाथ ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि भारतीय राजनीति के इतिहास में इतने लोगों को घोषणा पत्र बनाने की प्रक्रिया में शामिल किया गया हो। वह जो कुछ भी कर रहे हैं, वह  आधारहीन है। वह ऐसा कहते रहते हैं, उन्हें गंभीरता से लेने की जरूरत नहीं है। बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा के घोषणा पत्र को एक व्यक्ति की आवाज करार  देते हुए मंगलवार को दावा किया कि इसे बंद कमरे में तैयार किया गया है और इसमें दूरदर्शिता का अभाव है। उन्होंने यह दावा किया कि उनकी पार्टी का घोषणा पत्र लंबे विचार- विमर्श के बाद तैयार किया गया है और उसमें जनता की आवाज शामिल है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget