भारत से पंगा लेना पाक को पड़ा भारी

नई दिल्ली
इन दिनों पाकिस्तान का हाल काफी बुरा है। वहां की अर्थव्यवस्था पिछड़ गई है। महंगाई आसमान छू रही है। जरूरत का हर सामान दोगुने दामों पर मिल रहे हैं। खाने-पीने से लेकर  पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। कर्ज के बोझ में दबे पाकिस्तान के लिए इस वब्त हालात बद से बदतर हो गया है। नवंबर 2013 के बाद पाकिस्तान में  मुद्रास्फीति (महंगाई) सबसे अधिक 9.14 फीसदी पर पहुंच गई है। फरवरी तक यह आंकड़ा 8.21 फीसदी पर था। पाकिस्तान अपनी माली हालत सुधारने के लिए लगातार कर्ज मांग रहा है।

40 लाख लोग 'गरीब’ लाखों होंगें बेरोजगार
पाकिस्तान ने इंटरनेशनल मोनेटरी फंड (आईएमएफ) से एक बार फिर कर्ज की मांग की है। 1980 से अब तक पाकिस्तान करीब 12 बार आईएमएफ से कर्ज ले चुका है। लेकिन,   कर्ज मिलने तक हालात में सुधार लाना मुमकिन नहीं लग रहा है। दुनियाभर के अर्थशास्त्रियों का मानना है कि पाकिस्तान में महंगाई बढ़ने से हालात और बिगड़ सकते हैं। नतीजतन  गरीबी रेखा में रहने वालों की संक्या में 40 लाख का और इजाफा देखने को मिल सकता है। वहीं, 10 लाख लोग बेरोजगार हो सकते हैं।

चालू खाता घाटा बढ़ा
एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पाकिस्तान का चालू खाता घाटा पिछले कुछ समय में तेजी से बढ़ रहा है। पाकिस्तान के पास इसे रोकने के लिए कर्ज लेने के अलावा कोई विकल्प  नहीं है। यही वजह है कि पाकिस्तान ने आईएमएफ से 13वें बेलआउट पैकेज की मांग की है। पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था के पूरी तरह से चरमराने की आशंका है। दुनियाभर के अर्थशास्त्रियों का मानना है कि महंगाई के कारण लोगों के लिए जरूरी चीजें खरीदने में मुश्किल आ जाएगी।

एडीबी का भी यही अनुमान
इससे पहले एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने भी कहा है कि पाकिस्तान की आर्थिक वृद्धि दर 2019 में सुस्त होकर 3.9 प्रतिशत रहेगी। एडीबी ने 'व्यापक आर्थिक चुनौतियों’ का हवाला देते हुए कहा कि पाकिस्तान की वृद्धि दर वित्त वर्ष 2018 में 5.2 प्रतिशत से गिरकर 2019 में 3.9 प्रतिशत पर आ जाने का अनुमान है।

और कम होगी पाकिस्तान की जीडीपी रफ्तार
यूएनईएससीएपी की रिपोर्ट में कहा गया है कि जीडीपी विकास दर के मामले में पाकिस्तान इस क्षेत्र में सबसे पीछे रहेगा और 2019 में 4.2 फीसदी की गति से बढ़ेगा, जबकि 2020  में महज 4 फीसदी विकास दर होगी। इस लिहाज से वह नेपाल और मालदीव से भी बहुत पीछे रह जाएगा। नेपाल और मालदीव की जीडीपी रफ्तार 2019 में 6.5 फीसदी रह सकती है, जबकि बांग्लादेश में सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि दर 7.3 फीसदी रहेगी।

खाने-पीने से लेकर पेट्रोल तक के दामों में हुआ भारी इजाफा
इन दिनों पाकिस्तान में हरी सब्जियों से लेकर अन्य सामग्री के दाम आसमान छू रहे हैं। इतना ही नहीं पाकिस्तान में पेट्रोल 6 रुपए महंगा हो गया है। हाल ही में इमरान सरकार ने  पेट्रोल के दामों में बड़ा इजाफा किया है। नई दरों के मुताबिक, अब पाकिस्तान में एक लीटर पेट्रोल 98.88 पाकिस्तानी रुपए में बिक रहा है। इमरान सरकार ने कहा है कि आने वाले  महीनों में बिजली और गैस की कीमतों में भी इजाफा होगा।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget