पत्थर पर भी लकीर खींचता है मोदी

मेंगलुरु
कर्नाटक के मेंगलुरु में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस-जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) पर जमकर हमला किया। मोदी ने कहा कि कांग्रेस, जेडीएस और उन जैसे अनेक दलों की  प्रेरणा परिवारवाद है और हमारी राष्ट्रवाद है। वह अपने परिवार के आखिरी सदस्य तक को सत्ता का लाभ देते हैं। हम समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति को आगे लाने के  लिए मेहनत करते हैं। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि यह मोदी है जो मख्खन पर ही नहीं, बल्कि पत्थर पर भी लकीर खींचता है। मोदी ने कहा, ''अभी- अभी हमारा असेंबली  (कर्नाटक विधानसभा) का चुनाव हुआ। थोड़ी सी कमी रह गई। पूरा कर्नाटक बर्बाद हो गया कि नहीं हो गया? छोटी सी गलती ने कितना बड़ा नुकसान कर दिया। क्या अब कर्नाटक फिर से ऐसा नुकसान होने देगा? पिछली बार जो कमी रह गई उसको ब्याज समेत पूरा करेंगे हम?’’

पीएम मोदी की अपील
सभा स्थल के नजदीक कुछ कार्यकर्ता पेड़ पर चढ़कर पीएम मोदी को देख रहे थे। नरेंद्र मोदी ने उनसे नीचे उतरने का आग्रह किया। साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ''देखिए ऐसा रिस्क  नहीं लेना चाहिए। मैं तो आपका ही हूं, दोबारा आऊंगा, फिर मिलूंगा।’’ उन्होंने अपनी राजनीतिक क्षमता का बखान करते हुए यह भी कहा, ''यह मोदी है, जो केवल मख्खन पर ही  नहीं, बल्कि पत्थर पर भी लकीर खींचता है।’’ उन्होंने कहा, ''उनका दर्शन वंशोदय है, हमारा दर्शन अंत्योदय है। उनके वंशोदय से भ्रष्टाचार और अन्याय पैदा होता है। हमारे अंत्योदय  से पारदर्शिता और ईमानदारी की प्रतिष्ठा बढ़ती है। उनका वंशोदय अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को नजरअंदाज करता है। हमारा अंत्योदय एक चायवाले को प्रधानमंत्री बना देता
है।’’

अपने सामर्थ्य पर भरोसा करने वाला भारत
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ''राष्ट्रपति भवन में जब चप्पल पहने हुए एक बुजुर्ग को मैं गर्व के साथ पद्म सम्मान ग्रहण करते देखता हूं, तो मेरे मन में यही आता है कि यही मेरा भारत  है, अपने सामर्थ्य पर भरोसा करने वाला भारत, अपने संसाधनों पर भरोसा करने वाला भारत।’’

21वीं सदी कांग्रेस को उसके गुनाहों की सजा दे रही
कांग्रेस को 20वीं सदी ने एक मौका दिया। वह मौका उसने एक परिवार को समर्पित कर दिया, गंवा दिया। अभी मैं रामनाथपुरम से आ रहा हूं, वहां हमने अब्दुल कलामजी का एक बहुत बड़ा स्मारक बनाया है। उनके परिवार के ढेरों स्मारक हैं, लेकिन किसी पूर्व राष्ट्रपति को ऐसा सम्मान नहीं दिया। यही इनके परिवार का मामला है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget