ओएनजीसी का गैस उत्पादन बढा

नई दिल्ली
सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन सस्ता होकर 69.78 रुपए प्रति लीटर पर मिल रहा है। (ओएनजीसी) का प्राकृतिक गैस उत्पादन 31 मार्च 2019 को समाप्त वित्त वर्ष में 6.5 प्रतिशत उछलकर 25.9 अरब घन मीटर रहा। कंपनी ने आयात पर निर्भरता कम करने के लिए घरेलू उत्पादन बढ़ाने को लेकर कई कदम उठाए, जिससे उसका  गैस उत्पादन बढ़ा है। कंपनी के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक शशि शंकर ने यहां कहा कि ओएनजीसी परिचालित फील्ड, नेल्प Žलॉक तथा संयु€त उद्यम वाले Žलॉक से प्राकृतिक गैस का  उत्पादन 2018-19 में 25.819 अरब घन मीटर रहा, जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 24.61 अरब घन मीटर (बीसीएम) था। कंपनी 2022 तक 42 बीसीएम उत्पादन के रास्ते पर है। उस  समय केजी बेसिन में खोजे गए फील्डों से उत्पादन होने लगेगा। शंकर ने कहा कि पश्चिमी अपतटीय क्षेत्र बसई जैसे हमारे कुछ गैस फील्ड काफी पुराने हैं। इसके बावजूद गैस के  कुल घरेलू उत्पादन में इनका उल्लेखनीय योगदान जारी है। इसका कारण इन क्षेत्रों की लगातार निगरानी, अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी का उपयोग तथा गैस भंडार का बेहतर संभावित  प्रबंधन है। वर्ष 2018-19 में थोक उत्पादन नामांकन आधार पर ओएनजीसी को दिए गए तेल-गैस क्षेत्रों से आया। इन फील्डों से गैस उत्पादन बढ़कर 24.683 बीसीएम पहुंच गया जो  इससे पूर्व वित्त वर्ष 2017-18 में 23.43 बीसीएम था। वहीं नई उत्खनन लाइसेंसिंग नीति (नेल्प) के तहत मिले क्षेत्रों से उत्पादन में मामूली वृद्धि हुई है। इससे उत्पादन बढ़कर  आलोच्य वर्ष में 0.073 बीसीएम रहा जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 0.54 बीसीएम था। ओएनजीसी की उत्पादन वृद्धि दर वैश्विक औसत 3-4 प्रतिशत से अधिक रही है। आयात पर  निर्भरता कम करने तथा ग्रीन हाउस उत्सर्जन में कटौती के लिए भारत प्राकृतिक गैस की, खपत बढ़ाने पर गौर कर रहा है और कुल ऊर्जा में गैस की हिस्सेदारी बढ़ाकर 2030 तक  दोगुना कर 15 प्रतिशत करने का लक्ष्य है। शंकर ने कहा कि गैस बिक्री में भी अच्छी वृद्धि हुई। गैस बिक्री (अस्थाई) 2018-19 में 20.472 बीसीएम रही जो 2017-18 में 19.494
प्रतिशत थी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget