'आडवाणीजी पर हमें गर्व’

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी के ब्लॉग की तारीफ करते हुए उन्हें महान नेता बताया है। मोदी ने ट्वीट कर कहा कि आडवाणी ने ब्लॉग में  सही अर्थों में भाजपा के मतलब को समझाया है और उन्हें इसका कार्यकर्ता होने पर गर्व है। बता दें कि आडवाणी ने अपने ब्लॉग में भाजपा की नीतियों और सिद्धांतों को लेकर कई  अहम बातें कही हैं। आडवाणी ने अपने ब्लॉग में लिखा कि हमने कभी भी राजनीतिक विरोधियों को दुश्मन या देशविरोधी नहीं माना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आडवाणी के ब्लॉग की  तारीफ करते हुए ट्विटर पर उसका लिंक भी शेयर किया है। मोदी ने ट्वीट किया, ''आडवाणीजी ने भाजपा का सही अर्थों में बहुत ही सटीक मतलब बताया है, विशेषकर 'देश पहले,  फिर पार्टी और आखिर में स्वयं’ के पथ-प्रदर्शक मंत्र को बताया है। मुझे भाजपा कार्यकर्ता होने पर गर्व है और गर्व है कि आडवाणीजी जैसे महान लोगों ने इसे मजबूत किया है।’’ लाल कृष्ण आडवाणी ने 6 अप्रैल को पार्टी के स्थापना दिवस से 2 दिन पहले एक ब्लॉग लिखकर गांधीनगर की जनता के प्रति आभार जताया है, जहां से वह 1991 के बाद 6 बार सांसद रहे। इस बार गांधीनगर से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह मैदान में हैं। भाजपा के संस्थापक आडवाणी ने ब्लॉग में लिखा है उनकी जिंदगी का सिद्धांत रहा है-देश सबसे पहले, उसके बाद पार्टी और आखिर में खुद। उन्होंने लिखा कि हर परिस्थिति में उन्होंने इस सिद्धांत पर अटल रहने की कोशिश की है, जो आगे भी जारी रहेगी।
आडवाणी ने ब्लॉग में अपने अब तक के राजनीतिक सफर को याद किया कि कैसे वह 14 साल की उम्र में आरएसएस से जुड़े और किस तरह वह पहले जनसंघ और बाद में भाजपा के संस्थापक सदस्यों में रहे और पार्टी के साथ करीब 7 दशकों तक जुड़े रहे। आडवाणी ने पार्टी के सिद्धांतों और नीतियों पर जोर देते हुए सभी राजनैतिक दलों से आत्मनिरीक्षण की अपील भी की।
आडवाणी ने लिखा है कि भारतीय लोकतंत्र का सार उसकी विविधता और अभिव्यक्ति की आजादी है। पार्टी के भीतर और राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य दोनों में ही लोकतंत्र और लोकतांत्रिक  परंपराओं की रक्षा भाजपा की गर्वीली पहचान रही है। भाजपा हमेशा से मीडिया सहित हमारी लोकतांत्रिक संस्थाओं की स्वतंत्रता, निष्ठा, निष्पक्षता और मजबूती की रक्षा की मांग में  अग्रणी रही है।’’
ब्लॉग के आखिर में आडवाणी ने लिखा है कि सत्य, राष्ट्र निष्ठा और लोकतंत्र की तिकड़ी ने भाजपा के विकास की पथप्रदर्शक रही है। उन्होंने कहा कि इन मूल्यों की समग्रता से  सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और सुराज का जन्म होता है, जो उनकी पार्टी का हमेशा से ध्येय रहा है। अंत में उन्होंने लोकतंत्र के सबसे बड़े उत्सव चुनाव के दौरान सभी राजनीतिक दलों,  मीडिया और लोकतांत्रिक संस्थाओं से ईमानदारी से आत्मनिरीक्षण की भी अपील की है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget