दोबारा की जाएगी पुलों की स्ट्रक्चरल ऑडिट

मुंबई
मनपा प्रशासन ने सीएसटीएम पुल दुर्घटना के बाद मुंबई के पुलों का दोबारा स्ट्रक्चरल ऑडिट करने का निर्णय लिया है। मनपा ने निविदा निकाल कर शहरी भाग के पुलों की  स्ट्रक्चरल ऑडिट करेगी। इस इलाके के पुलों का स्ट्रक्चरल ऑडिट डीडी देसाई ने किया है, जिसने हिमालय पुल का भी स्ट्रक्चरल ऑडिट करके मामूली मरम्मत की जरूरत बताया था  और पुल 14 मार्च को गिर गया, जिसमें 7 लोगों की मौत और 32 लोग जख्मी हो गए थे। इस दुर्घटना के बाद मनपा ने डीडी देसाई द्वारा किए गए पुलों की दोबारा स्ट्रक्चरल  ऑडिट करने का निर्णय लिया।
बता दें कि मनपा ने दो साल पहले मुंबई के 296 पुलों का स्टक्चरल ऑडिट करने का निर्णय लिया था। स्ट्रक्चरल ऑडिट हुए पुलों की रिपोर्ट पिछले साल जून में आई, जिसके  आधार पर मनपा ने जर्जर पुलों को तोड़कर उनका पुनर्निर्माण और मरम्मत करने का निर्णय लिया था। पुलों के मरम्मत एवं निर्माण की प्रक्रिया भी शुरू की गई। इसी बीच 14  मार्च को हिमालय पुल के गिर जाने के बाद मनपा ने मुंबई के सभी पुलों का दोबारा स्ट्रक्चरल ऑडिट करने का निर्णय लिया। मनपा ने पूर्व और पश्चिम उपनगर के पुलों का  स्ट्रक्चरल ऑडिट करने वाले ऑडिटर से दोबारा एक महीने के भीतर ऑडिट कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया।
गौरतलब है कि मुंबई के पुलों की स्ट्रक्चरल ऑडिट डीडी देसाई ने किया था। ऑडिट में सीएसटीएम के हिमालय पुल को मामूली मरम्मत की जरूरत बताई थी, लेकिन इसी बीच पुल  के ढह जाने के बाद देसाई के स्ट्रक्चरल ऑडिट पर उंगली उठने लगी। इसी के चलते मनपा ने सभी 73 पुलों का दोबारा स्ट्रक्चरल ऑडिट तीन महिने के भीतर करने का निर्णय लिया  है, जिसमें 46 लाख 66 हजार रुपए खर्च होंगे।
स्ट्रक्चरल ऑडिट करने के लिए 24 अप्रैल तक निविदा भरने का निर्देश दिया है और निविदा प्रक्रिया पूरा होने पर तीन महीने में स्ट्रक्चरल ऑडिट करने का निर्णय लिया है। तीन  महीने में बारिश के समय भी स्ट्रक्चरल ऑडिट करना होगा।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget