पौड़ी सीट पर रामनगर के मतदाताओं का वोट निर्णायक

रामनगर
पौड़ी लोकसभा सीट का चुनाव भाजपा सांसद व पूर्व सीएम बीसी खंडूरी के पुत्र मनीष खंडूरी और उनके करीबी शिष्य तीरथ सिंह रावत के बीच हो रहा है। अपनों के ही बीच इस  सियासी जंग में एक दूसरे पर प्रत्याशी सीधे आरोप-प्रत्यारोप लगाने से बच रहे हैं, मगर रामनगर की जनता पिछले दो चुनावों के नतीजों का आकलन भी अपने नजरिए से कर रही  है।
दरअसल दोनों ही बार वहीं प्रत्याशी इस सीट से जीता है जो रामनगर से बढ़त बना पाया। पौड़ी संसदीय क्षेत्र का पिछले दो चुनावो का रोचक इतिहास रहा है। इसे रोचक बनाने में  रामनगर के मतदाताओं ने अहम भूमिका अदा की है। दरअसल 2009 के परिसीमन के बाद नैनीताल जिले की रामनगर विधानसभा पौड़ी संसदीय सीट का हिस्सा हो गई। 2009 में  इस संसदीय सीट से विजेता रहे कांग्रेस के सतपाल महाराज को रामनगर की जनता ने 19640 मत दिए थे। भाजपा के टीपीएस रावत 14318 वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रहे थे।  2014 में बीजेपी के भुवन चंद्र खंडूरी को रामनगर से 37870 वोट मिले, जबकि कांग्रेस के हरक सिंह रावत को महज 23731 मतों से ही संतोष करना पड़ा था। इस बार भाजपा के  तीरथ और कांग्रेस के मनीष यहां आमने-सामने हैं। इस दिलचस्प मुकाबले में कार्यकर्ताओं को छोड़ दें, तो इस सीट पर दोनों ही उम्मीदवार एक दूसरे पर अनर्गल बयानबाजी करने से
परहेज कर रहे है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget