15 साल बाद जेडीयु की वापसी

पटना
नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण के साथ भाजपा की सहयोगी जनतादल यूनाइटेड को केंद्रीय कैबिनेट में 15 सालों बाद जगह मिलेगी। इससे पहले केंद्र की अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में  जेडीयू के नेता मंत्री थे। तब जॉर्ज फर्नांडिस, शरद यादव और नीतीश कुमार केंद्र सरकार में मंत्री हुआ करते थे। 2004 में यूपीए सरकार बनने के करीब एक साल बाद नीतीश कुमार  बिहार में सीएम बन गए। शरद यादव लंबे समय तक एनडीए के संयोजक बने रहे। और समाजवाद के पुरोधा रहे जॉर्ज फर्नांडिस का जनवरी 2019 में लंबी बीमारी के बाद देहांत हो  गया।
जेडीयू का निर्माण
जनता दल यूनाइटेड के निर्माण की नींव 1999 के आम चुनावों के पहले ही पड़ जब गई थी जब कर्नाटक के सीएम जेएच पटेल ने एनडीए को समर्थन देने का निर्णय किया था।  पटेल जनता दल के नेता थे और उनके इस निर्णय की वजह से पार्टी में विभेद पैदा हुए। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने इसके बाद जनता दल से अलग होकर जनता दल सेकुलर  का निर्माण किया था। क्योंकि देवेगौड़ा दोनों बड़ी राजनीतिक पार्टियों, कांग्रेस और भाजपा से अलग रहना चाहते थे। जनता दल के नेता शरद यादव हो गए। बाद में 2003 में शरद  यादव की अगुवाई वाले जनता दल, जॉर्ज फर्नांडिस और नीतीश कुमार की अगवाई वाली समता पार्टी और लोकशक्ति पार्टी का एक साथ विलय हुआ और जेडीयू अपने अस्तित्व में आई।

अटल बिहारी कैबिनेट
अटल बिहारी कैबिनेट जॉर्ज फर्नांडिस, नीतीश कुमार और शरद यादव को बड़े मंत्रालय दिए गए थे। जॉर्ज रक्षा तो नीतीश कुमार रेल मंत्री रहे। इन तीनों ही नेताओं की वाजपेयी  कैबिनेट में अहम भूमिका थे और अहम बदलाव में इन तीनों ने योगदान दिया।

भाजपा से अलगाव
2014 के लोकसभा चुनाव में जब भाजपा ने नरेंद्र मोदी को अपना पीएम प्रत्याशी घोषित किया था तब नीतीश कुमार भाजपा के साथ अपने 17 साल पुराने गठबंधन से अलग हो गए  थे। इसके बाद जेडीयू और आरजेडी ने साथ मिलकर 2015 में बिहार में सरकार बनाई थी, लेकिन नीतीश कुमार 2017 में फिर भाजपा के साथ हो गए।

अलग ही रहे शरद
2017 में भले ही भाजपा और जेडीयू एक हो गए, लेकिन शरद यादव इस गठबंधन से अलग ही रहे। इस बार के लोकसभा चुनाव में वो महागठबंधन प्रत्याशी के रूप में मधेपुरा से  चुनाव लड़ रहे थे। उन्हें जेडीयू कैंडिडेट के हाथों पराजय का सामना करना पड़ा।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget