जिस पार्टी में 25 वर्ष काम किया उस पार्टी के नेता पर आरोप लगाना ठीक नहीं : मनोहर जोशी

मुंबई
महाराष्ट्र स्वाभिमान पक्ष के अध्यक्ष राज्य सभा सांसद नारायण राणे की आत्मकथा पर आयी किताब में शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे पर लगे गंभीर आरोप को लेकर राज्य के  पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना के वरिष्ठ नेता मनोहर जोशी ने राणे पर पलटवार किया है। बुधवार को एक टीवी चैनल को साक्षत्कार देते वक्त पूर्व सीएम मनोहर जोशी ने राणे पर  निशाना साधते हुए कहा कि जिस पार्टी में 25 वर्ष राणे ने काम किया उस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और सहयोगियों पर आरोप लगाना ठीक नहीं है। जिस पार्टी में हम बड़े हुए उसके  खिलाफ बोलकर उन्होंने अपना स्तर गिराया है। जोशी ने बताया कि मैं शिवसेना की स्थापना के पहले से दिवंगत बालासाहेब ठाकरे के साथ था। वे कहीं भी जाते थे मुझे साथ लेकर  जाते थे, जिससे मुझे काफी फायदा हुआ। लेकिन इसके कारण कई दुश्मन पैदा हो गए। जोशी ने राणे की आत्मकथा में छपी लेख की शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे ने राणे को  फोन करके बताया कि आपके शिवसेना में दोबारा आने पर उध्दव ठाकरे और उनकी पत्नी रश्मि ठाकरे घर छोड़ने वाली धमकी को गलत ठहराते हुए कहा कि इसमें कोई तत्थ नहीं  है। पूर्व मुख्यमंत्री जोशी ने कहा कि शिक्षा का मतलब किताब का ज्ञान नहीं, बल्कि शिक्षा का मतलब उसके विचार क्या हैं, कोई क्या बोलता है, यह महत्वपूर्ण होता है। राणे के शिवसेना छोड़ने पर क्या आपने उनसे संपर्क करने की कोशिश की थी, के जवाब में मनोहर जोशी ने कहा कि हमने उनसे न ही संपर्क किया और न ही कोई मुलाकात। बता दें कि  राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे के जीवन पर आधारित एक पुस्तक लिखी गयी है, जिसका विमोचन राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस के हाथों होना है। राणे की इस पुस्तक  में उनके निजी जीवन से लेकर राजनीतिक जीवन की आत्मकथा लिखी गयी है, जिसमें राणे के शिवसेना में रहते हुए उनके साथ शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे और उनके पूरे परिवार के साथ कैसे रिश्ते थे, उसका जिक्र किया गया है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget