दीदी बंगाल आपके घर की जागीर नहीं : मोदी

कोलकाता
पश्चिम बंगाल में जारी सियासी घमासान के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार शाम बंगाल के दमदम में रैली की। इस रैली के दौरान पीएम ने ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस पर  जमकर निशाना साधा। रैली में लोगों को संबोधित करने के दौरान पीएम ने ममता बनर्जी को निशाने पर लेते हुए कहा, ''दीदी यह सुन लें कि पश्चिम बंगाल आपके और आपके  भतीजे के घर की जागीर नहीं है। पीएम ने भाषण में यह भी कहा कि 23 मई को केंद्र में भाजपा की सरकार बनने के बाद बंगाल में घुसपैठ करके आने वालों का हिसाब होगा और  दोषियों पर कार्रवाई होगी।''
दमदम की रैली में पीएम ने ममता पर निशाना साधते हुए कहा, ''दीदी को लगता था कि वह सुप्रीम पावर हैं, लेकिन बंगाल के लोगों ने बताया कि सुप्रीम सिर्फ जनता है। बांग्ला  मानुष की रग-रग में डेमोक्रेसी है और इस बार आपका मुकाबला भाजपा से नहीं 21वीं सदी के बंगाली युवाओं से हो रहा है। मोदी को गाली देने से आपको कुछ हासिल नहीं होगा।''  पीएम ने भाषण में कहा, ''दीदी और टीएमसी के नेताओं का अहंकार इतना बढ़ गया है कि उन्होंने देश की रक्षा में जुटे सपूतों को भी नहीं छोड़ा। इनके नेता सरेआम धमकी देते हैं  कि सुरक्षाकर्मियों को भगाओ और उनको मारो, यह तरीका कश्मीर में पत्थरबाज अपनाते हैं। इस महान लोकतंत्र में सबको सपने देखने की आजादी है। आपको भी पीएम पद का  सपना देखने की आजादी है, लेकिन हमारी सेना को गाली देने से और उनके खिलाफ गुंडों का उपयोग करने से आपकी अपनी विश्वसनीयता पर सवाल उठ चुके हैं।''

दीदी को सीमा लांघकर आने वालों से समस्या नहीं
ममता बनर्जी पर दूसरे प्रदेश से आने वाले लोगों के अपमान का आरोप लगाते हुए पीएम ने कहा कि यह देश सबकुछ स्वीकार कर सकता है, लेकिन किसी का भी अहंकार सहन  नहीं करेगा। दीदी को यह याद दिलाना जरूरी है कि बिहार, पंजाब, यूपी, ओड़िशा से यहां कोई आया है, तो वह अपनी आजीविका कमाने के साथ बंगाल के विकास में भी मदद करता  है। दीदी को यूपी, बिहार और ओड़िशा के लोगों से समस्या है, लेकिन जो सीमा को लांघकर चोरी-छिपे यहां आते हैं उनसे आपको कोई समस्या नहीं है। मोदी ने कहा कि जिन लोगों  ने पश्चिम बंगाल की समाज व्यवस्था को तहस नहस कर दिया, उनके लिए आपके मन में प्यार उमड़ रहा है, लेकिन अपने देश के लोगों को आप गालियां देती हैं। आपकी भाषा से  बंगाल के सामान्य आदमी को बहुत दुख हुआ है और इसका जवाब वह 19 मई को ईवीएम का बटन दबाकर देने वाला है। दीदी कान खोल कर सुन लें, पश्चिम बंगाल आपकी और  आपके भतीजे की जागीर नहीं है। ये मां भारती का एक अटूट अंश है।

राम के भक्त डर कर जीने को हैं मजबूर
राज्य सरकार द्वारा हाल में हुई कार्रवाई का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि गंगोत्री से लेकर गंगा सागर तक मां गंगा ने किसी से भेद नहीं किया, तो आप कौन होती हैं लोगों में  भेद करने वाली। आप अपनी आंखों से वोट बैंक की पट्टी खोलेंगी, तो आपको एक भारत और श्रेष्ठ भारत के दर्शन होंगे। बंगाल रामकृष्ण परमहंस, मां काली और भगवान राम को  पूजने वाली धरती है। दुष्टों का संहार करने की सीख यहां के कण-कण में समाहित है। यहां जो दुष्ट, घुसपैठिए और तस्कर मौज में हैं और काली एवं भगवान राम के भक्त डर कर  जीने को मजबूर हैं। जय मां काली और जय श्री राम कहने पर लोगों को जेल में भेजा जा रहा है और मजाक करने भर से बेटियों को जेल में डाला जा रहा है, यह अब और नहीं  चलेगा। महागठबंधन को आड़े हाथों लेते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 2014 के पहले देश में आए दिन धमाके होते थे, लेकिन चौकीदार के कुर्सी पर आने के बाद यह बंद हुआ।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget