राकांपा का कांग्रेस में विलय नहीं : पवार

मुंबई
लोकसभा चुनाव में भाजपा के हाथों करारी हार का सामना करने के बाद एक बार फिर सभी विपक्षी दल एकजुटता दिखाने के लिए पास आते नजर आ रहे हैं। गुरुवार को कांग्रेस  अध्यक्ष राहुल गांधी और राष्ट्रवादी कांग्रेस अध्यक्ष शरद पवार की दिल्ली में मुलाकात हुई, जिसके बाद से इस बात के कायस लगाए जा रहे हैं कि राकांपा का कांग्रेस में विलय हो  सकता है। हालांकि राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने ऐसी अटकलों को खारिज करते हुए कहा कि बैठक में कांग्रेस-राकांपा के विलय को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई।
लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की है। राहुल ने पिछले सप्ताह कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में अध्यक्ष पद से इस्तीफे  का प्रस्ताव दिया था, लेकिन वर्किंग कमेटी ने यह प्रस्ताव मंजूर नहीं किया। हालांकि इसके बावजूद राहुल गांधी इस्तीफे की जिद पर अड़े हुए हैं। इसी पार्श्वभूमि पर गुरुवार दोपहर  को राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने नई दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात की। सूत्रों के अनुसार लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद कांग्रेस के पास रहे, इसके लिए राहुल गांधी और  शरद पवार के बीच बातचीत हुई। इस मुलाकात के बीच राकांपा के कांग्रेस में विलय की अफवाह उड़ी, लेकिन शरद पवार ने कहा कि इस बारे में कोई चर्चा नहीं हुई। पवार ने राहुल  गांधी से इस्तीफा नहीं देने का आव्हान किया।
गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को 52 सीटें मिली थी, जबकि राकांपा को पांच सीटें। ऐसे में अगर राकांपा का कांग्रेस में विलय होता है तो, उसके पांच सांसदों के साथ  कांग्रेस सदस्यों की संख्या मिलकर 57 हो जाएगी। इससे कांग्रेस को लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद भी मिल जाएगा। अगर दोनों पार्टियों के बीच का यह संभावित विलय होता है  तो, इस बात का अनुमान लगाया जा रहा है कि राहुल गांधी नेता विपक्ष की गद्दी संभाल सकते हैं।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget