चौपाटियों की सुरक्षा तीन गुना बढ़ी

मुंबई
मानसून के दौरान समुद्री किनारों पर बड़े पैमाने पर पर्यटकों के डूबने की घटनाएं घटती हैं। मनपा प्रशासन ने समुद्री किनारों की सुरक्षा टाइट कर दी है।मनपा प्रशासनं ने लोगों की  सुरक्षा को लेकर काम करने वाले लाइफ गार्डों की संख्या 37 से बढ़ाकर 93 की है, जबकि अन्य कर्मचारियों को लेकर उनकी संख्या 120 पहुंच गई है। इसके अलावा लाइफ गार्डों पर  नजरें रखने के लिए 12 सुपरवाइजर भी रखे गए हैं। मुंबई के गिरगांव, दादर, जुहू, वर्सोवा, अक्सा और गोराई चौपाटियों पर भारी संख्या में विदेशी और देशी नागरिक मौज मस्ती के  लिए आते हैं। मानसून के दौरान इनकी संख्या में और भारी इजाफा होता है। समुद्री किनारों पर मानसून के दौरान उठने वाली लहरों का अंदाज नही रहता जिसके चलते बड़ी संख्या  में डूबने की घटनाएं घटती हैं। मनपा प्रशासन समुद्री किनारों पर होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए समुद्री किनारों पर लाइफ गार्ड तैनात करती है। मनपा प्रशासन लाइफ गार्डों  के पास लाइफ सेविंग इब्विपमेंट सहित किसी भी प्रकार दुर्घटना हो जाने पर प्राथमिक उपचार की सुविधाएं उपलब्ध कराती है।

अतिरिक्त मनुष्य बल तैनात
मनपा प्रशासन पिछले साल 11 नियमित और 26 ठेकेदारों के कुल 37 लाइफ गार्डों तैनात किया था, जबकि इस साल मनपा ने 93 लाइफ गार्ड तैनात किए हैं। इसके अलावा मनुष्य  बल की कमतरता न हो इसके लिए 27 अन्य कर्मचारियों को भी नियुक्त किया गया है। इस तरह कुल 120 लाइफ गार्ड नियुक्त किए गए हैं।

इस तरह का होगा काम
छह चौपाटियों पर 12 लाइफ गार्ड तैनात किया जाएंगे। जो समुद्री किनारों पर गस्त लगाते दिखाई देंगे, जो सुबह 7 से दोपहर 3 और 3 से रात 10 बजे तक इस तरह दो पाली में  रहेंगे। ये लाइफगार्ड समुद्र में डूबने वालों को बचाने के लिए लाइफ जैकेट, रोप रेस्क्यू टम्यूब, रिंग बॉय इस तरह की साधन सामग्रियों से लैस होंगे।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget