अमूल के बाद मदर डेयरी ने भी बढ़ाए दूध के दाम

नई दिल्ली
अमूल के बाद अब मदर डेयरी ने भी अपने दूध की कीमतों में इजाफा कर दिया है। शनिवार से मदर डेयरी का दूध 1 रुपए प्रति पैकेट की दर से महंगा हो जाएगा। कंपनी द्वारा दी  गई जानकारी के मुताबिक नई दरें शनिवार, 25 मई से लागू होंगी।

नई दरे
मदर डेयरी के 1 लीटर पैक की कीमत में 1 रुपए जबकि 500 मिलीलीटर के पैक में 2 रुपए पति लीटर के दाम से इजाफा किया गया है। यानी 1 पैकेट के लिए ग्राहकों को 1 रुपए  ज्यादा देना होगा। हालांकि, मदर डेयरी पर मिलने वाले टोकन मिल्क यानी बल्क वेंडेड मिल्क (बीवीएम) के दाम कंपनी ने नहीं बढ़ाए हैं। यह पहले की तरह ही 40 रुपए प्रति लीटर  के हिसाब से मिलता रहेगा। बात करें फुल क्रीम मिल्क की तो अब यह दूध 52 रुपए की जगह 53 रुपए प्रति लीटर की दर पर मिलेगा। वहीं आधा लीटर दूध के पैकेट के लिए 27  रुपए चुकाने होंगे। फुल क्रीम प्रीमियम मिल्क के 1 लीटर पैकट के लिए 55 रुपए जबकि आधा लीटर पैकेट केलिए 28 रुपए चुकाने होंगे। टोन्ड दूध के लिए मदर डेयरी ग्राहकों को  अब 1 लीटर के लिए 42 रुपए जबकि आधा लीटर पैकेट के लिए 22 रुपए देने होंगे। वहीं डबल टोन्ड के 1 लीटर पैकेट के लिए 35 रुपए और आधा लीटर पैकेट के लिए 19 रुपए  देने होंगे। स्किम्ड मिल्क यानी डाइट्ज मिल्क के आधा लीटर पैकेट के लिए 21 रुपए देने होंगे। बात करें गाय के दूध की तो 1 लीटर के पैकेट की कीमत में कोई बदलाव नहीं किया  गया है और यह पहले की तरह ही 42 रुपए में मिलता रहेगा जबकि आधा लीटर पैक की कीमत 21 रुपए की जगह बढ़ाकर 22 रुपए कर दी गई है।

क्या है वजह
कीमतों में इजाफे को लेकर मदर डेयरी का कहना है कि पिछले 3-4 महीनों से चारे की कीमतें 15-20 प्रतिशत तक बढ़ी हैं। इसके अलावा, लेबर कॉस्ट में भी बढ़ोतरी हुई है।  हालांकि, पिछले साल की तुलना में उत्पादकों को 7-8 प्रतिशत ज्यादा कीमतें चुकाई जा रहीं थीं, लेकिन ग्राहकों के लिए दाम नहीं बढ़ाए गए थे। आपको बता दें कि मदर डेयरी ने  पिछली बार दिल्ली-एनसीआर में दूध की कीमतों में इजाफा मार्च, 2017 में किया था। गौर करने वाली बात है कि अमूल ने भी हाल ही में अपने दूध के दाम 2 रुपए प्रति लीटर तक  बढ़ाए थे। सहकारी संस्था गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन ने कहा था, 'दूध के दाम में दो रुपए प्रति लीटर की वृद्धि दो साल बाद की गई है। इसका मकसद अपने दूध  उत्पादकों को ज्यादा कीमत देने का है ताकि दूध उत्पादन में कमी और लागत में वृद्धि की भरपाई हो सके।'
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget