'महिलाओं के विकास के लिए सरकार कटिबद्ध'

मुंबई
राज्य की महिलाओं की अस्मिता बनाए रखने के लिए सरकार कटिबद्ध है। सदियों से विविध समस्याओं की चपेट में फंसी महिलाएं सम्मान, शिक्षा, कुपोषण और स्वच्छता की समस्या से अब बाहर निकल रही हैं। मंगलवार को यशवंतराव चव्हाण प्रतिष्ठान, मुंबई में महाराष्ट्र राज्य ग्रामीण जीवनोन्नति अभियान के अंतर्गत विश्व मासिक धर्म स्वच्छता  दिवस के उपलक्ष्य में जनजागृति कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित राज्य की महिला बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने कार्यक्रम को संबोधित करते  हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि महिलाओं के विकास के लिए महाराष्ट्र राज्य ग्रामीण जीवनोन्नति अभियान और महाराष्ट्र आर्थिक विकास महामंडल सही दिशा में कार्यरत हैं।  राज्य सरकार ग्रामीण एवं राज्य की महिलाओं के आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक विकास के कार्यों को लेकर विशेष कार्य कर रही है। अस्मिता योजना के साथ-साथ उज्ज्वला योजना, घरकुल योजना, सौभाग्य योजना, शून्य फीसदी दर से कर्ज उपलब्ध कराना, महिला बचत समूह का सक्षमीकरण करना, जलयुक्त शिवार आदि योजनाओं में महिलाओं को   केंद्र स्थान में रखकर ही चलाई जा रही हैं। पंकजा मुंडे ने कहा कि अस्मिता योजना राज्य की महिलाओं का स्वास्थ्य संवर्धित रखने की दृष्टि से शुरू की गई है। इसलिए आज   तकरीबन 15 लाख 98 हजार से अधिक महिलाएं और 47 हजार से अधिक जिला परिषद स्कूलों की लड़कियां इस योजना का लाभ ले रही हैं। इसके अलावा 28 हजार से अधिक  महिलाएं अस्मिता सेनिटरी नैपकिन बिक्री का व्यवसाय कर रही है। इन व्यवसायी महिलाओं के लिए अस्मिता प्लस योजना के अंतर्गत सेनिटरी नैपकीन पोस्ट के द्वारा घर पर  उपलब्ध होगी। इस मौके पर कार्यक्रम में महाराष्ट्र राज्य ग्रामीण जीवनोन्नति अभियान की मुख्य कार्यकारी अधिकारी आर. विमला ने कहा कि राज्य के ग्रामीण परिसर की महिलाएं  एवं किशोर लड़कियों में मासिक धर्म का व्यवस्थापन एवं वैयक्तिक स्वच्छता के संदर्भ में जनजागरण करना एवं उन्हें उचित दर में अच्छे स्तर के सेनिटरी नैपकिन अस्मिता नाम से  सरकार की ओर से उपलब्ध कराई जाती हैं। इन नैपकिन में सुधार कर अस्मिता प्लस नाम से अब सेनिटरी नैपकिन उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके अंतर्गत 11 से 19 आयु वर्ग की  जिला परिषद स्कूलों की लड़कियों को अनुदानित सेनिटरी नैपकिन 5 रुपए, वहीं ग्रामीण परिसर की लड़कियों को बिना अनुदानित सेनिटरी नैपकिन 24 रुपए की उचित दर में दिए  जाने की जानकारी श्रीमती विमला ने दी। इस अवसर पर राज्य की महिला बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस के अवसर पर महिलाओं को  शुभकामनाएं दीं।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget